Gujarat Exclusive > देश-विदेश > जम्मू-कश्मीर से 10 हजार सुरक्षाबलों की होगी वापसी, समीक्षा बैठक के बाद फैसला

जम्मू-कश्मीर से 10 हजार सुरक्षाबलों की होगी वापसी, समीक्षा बैठक के बाद फैसला

0
649

गृह मंत्रालय ने आज जम्मू-कश्मीर से केंद्रीय सुरक्षाबलों की 100 कंपनियों को तत्काल वापस बुलाने का फैसला लिया है.

गृह मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि केंद्र ने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से लगभग 10,000 अर्धसैनिक बलों के जवानों को तत्काल वापस बुलाने का आदेश दिया है.
उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय ने सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स (सीएपीएफ) की तैनाती की समीक्षा के बाद यह फैसला लिया.

यह भी पढ़ें : गुजरात में 82 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित, 1145 नए मामले

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सीएपीएफ की कुल 100 कंपनियों की तत्काल वापसी का आदेश दिया है.
उन्हें देश में उस स्थान पर लौटने का आदेश दिया गया है जहां से उन्हें पिछले साल अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद जम्मू कश्मीर में भेजा गया था.

100 में सीआरपीएफ की 40 कंपनियां

निर्देशों के अनुसार केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की कुल 40 कंपनियों और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की 20-20 कंपनियों को इस सप्ताह तक जम्मू कश्मीर से वापस बुलाया जाएगा.
सीएपीएफ की एक कंपनी में करीब 100 जवान होते हैं.

पिछले साल हुई थी तैनाती

पिछले साल 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के खात्मे और विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने के बाद इन कंपनियों को सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात किया गया था.

साथ ही सरकार में जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों (जम्मू-कश्मीर और लद्दाख) में बांट दिया था.

इस फैसले से ठीक पहले केंद्र सरकार ने भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की थी.
समय-समय पर समीक्षा के बाद सुरक्षाबलों की संख्या केंद्र शासित प्रदेश में कम की जा रही है.
गृह मंत्रालय ने इससे पहले मई में सीएपीएफ की करीब 10 कंपनियों को वापस बुला लिया गया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें