Gujarat Exclusive > देश-विदेश > राजस्थान से आई राहत की खबर, राज्य के 112 कोरोना मरीजों की रिपोर्ट आई निगेटिव

राजस्थान से आई राहत की खबर, राज्य के 112 कोरोना मरीजों की रिपोर्ट आई निगेटिव

0
339

राजस्थान से कोरोना वायरस से जुड़ी एक राहत भरी खबर सामने आई है. राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने मीडिया को बताया कि राज्य में 112 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, जिनमें से 58 लोग इलाज कराकर अस्पताल से घर जा चुके हैं. राज्य में तेजी से पॉजिटिव मामले का आंकड़ा बढ़ रहा है, लेकिन मरीज भी ठीक हो रहे हैं.

उधर पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार काम के बदले अनाज की तर्ज पर नई योजना लाए. इस तरह की योजना 2002 में अकाल सूखे के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समय लाई गई थी. लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला राज्यों की परिस्थितियों को देखते हुए लिया जाए. केंद्र सामाजिक सुरक्षा पेंशन के दायरे में नहीं आने वाले जरूरतमंद वर्गों को अनुग्रह राशि उपलब्ध कराएं.

गहलोत ने आगे कहा कि केंद्र सरकार उद्योगों के लिए प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा करें. 2008 की आर्थिक मंदी के दौरान वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने ऐसी घोषणा की थी. केंद्रीय जीएसटी में रियायत देने पर विचार होना चाहिए. उन्होंने पीएम मोदी को राजस्थान सरकार के उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी दी. राजस्थान सरकार महामारी रोकने के लिए हर संभव उपाय कर रही है. प्रदेश में सरकार का संकल्प है- नहीं सोए कोई भी व्यक्ति भूखा, उधार देने की क्षमता की सीमा की 5% तक जाए.

फिलहाल सम्बंधित कम्पनी/फर्म द्वारा अपने लोगों व वाहनों के आवागमन पास के लिए जिला प्रशासन, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, उद्योग विभाग आदि को पास आवेदन किया जा रहा है. इसके लिए एक वेबसाइट शुरू की गई है. साथ ही यह सुविधा राजस्थान पुलिस के राजकोप सिटीजन मोबाइल एप पर उपलब्ध है.

उधर राजस्थान सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से उपजे संकट व लॉकडाउन के मद्देनजर अकादमिक सत्र 2019-20 के नौवीं व 11वीं कक्षा के सभी विद्यार्थियों को आगामी कक्षाओं में क्रमोन्नत करने के आदेश जारी कर दिए हैं. माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने इस बारे में जारी आदेश में कहा है कि संबंद्ध सत्र के नौवीं कक्षा के विद्यार्थी को दसवीं व 11वीं कक्षा के विद्यार्थी को 12वीं में क्रमोन्नत किया जाएगा.

दुनियाभर में कोरोना से एक लाख से ज्यादा की मौत, अमेरिका में एक दिन में गई 2000 लोगों की जान