Gujarat Exclusive > यूथ > 14 फरवरी है केजरीवाल के लिए खास, ‘वेलेंटाइन डे’ के दिन ले सकते हैं शपथ

14 फरवरी है केजरीवाल के लिए खास, ‘वेलेंटाइन डे’ के दिन ले सकते हैं शपथ

0
244

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों के साथ अगले पांच साल तक आम आदमी पार्टी की सरकार का बने रहना तय हो गया है. दिल्ली की जनता ने एक बार फिर अरविंद केजरीवाल को सत्ता की चाबी सौंपी है. बेशक आम आदमी पार्टी की सीटें पिछली बार के मुकाबले कम हुई हैं लेकिन केजरीवाल की पार्टी आसानी से बहुमत हासिल कर लेगी. केजरीवाल ही दिल्ली के अगले मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. कयास लगाए जा रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल 14 फरवरी को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली चुनावों में शानदार जीत के बाद मंगलवार को दिल्ली के कनॉट पैलेस में स्थित हनुमान मंदिर गए और बजरंग बली की पूजा अर्चना की.

दरअसल केजरीवाल का 14 फरवरी की तारीख से एक खास नाता है. केजरीवाल दो बार दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले चुके हैं. 14 फरवरी से उनका नाता कुछ इस तरह है कि 4 दिसंबर, 2013 को दिल्ली में विधानसभा चुनाव हुए थे. 8 दिसंबर को नतीजे आए. बीजेपी को 31, AAP को 28 और कांग्रेस को 8 सीटें मिली थीं. AAP और कांग्रेस ने मिलकर सरकार बनाई. 28 दिसंबर को केजरीवाल ने पहली बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. सरकार गठन के बाद AAP और कांग्रेस के रिश्तों में खटास आ गई और 49 दिनों तक साझा सरकार चलाने के बाद 14 फरवरी, 2014 को केजरीवाल ने इस्तीफा दे दिया.

12 जनवरी, 2015 को दिल्ली में फिर से विधानसभा चुनाव की घोषणा की गई. चुनाव आयोग ने 7 फरवरी को मतदान और 10 फरवरी को नतीजे घोषित करने का ऐलान किया. उस समय AAP प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा था कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो अरविंद केजरीवाल 14 फरवरी को शपथ लेकर दिल्ली के साथ ‘वेलेंटाइन डे’ मनाएंगे. AAP ने पूरी ताकत से चुनाव लड़ा और 70 में से 67 सीटें जीतकर इतिहास रच दिया. कांग्रेस का खाता तक नहीं खुला. जीत के बाद केजरीवाल ने 14 फरवरी को ही दिल्ली के रामलीला मैदान में दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. बस वहीं से केजरीवाल 14 फरवरी को बेहद खास दिन मानने लगे. सरकार का एक साल पूरा होने पर 14 फरवरी, 2016 को उन्होंने ट्वीट किया, ‘पिछले साल, इसी दिन दिल्ली को AAP के साथ प्यार हो गया था. यह जुड़ाव बहुत गहरा और कभी ना खत्म होने वाला है.’