Gujarat Exclusive > गुजरात > कंडला पोर्ट पर मछुआरों के हाथ लगा प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन, जांच में जुटी सुरक्षा एजेंसियां

कंडला पोर्ट पर मछुआरों के हाथ लगा प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन, जांच में जुटी सुरक्षा एजेंसियां

0
233

कंडला पोर्ट के पास एक टापू पर लावारिस हालत में मछुआरों को एक सेटेलाइट फोन मिला. 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति अहमदाबाद आ रहे हैं, ऐसे में देश के सबसे बड़े पोर्ट के पास टापू से भारत में प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन मिलने की घटना से हड़कम्प मच गया है. इस मामले में पूर्व कच्छ पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. साथ ही साथ सुरक्षा एजेंसियां भी सतर्क हो गई हैं.

मिल रही जानकारी के अनुसार सेटेलाइट फोन थुराया कंपनी का है. इस कंपनी का सेटेलाइट फोन भारत में प्रतिबंधित है. इतना ही नहीं सेटेलाइट फोन का इस्तेमाल बिना फोन नेटवर्क के भी किया जा सकता है. इस वजह से इस फोन के सिग्नल को डिटेक्ट कर पाना सुरक्षा एजेंसियों के लिए मुश्किल काम है.

पूर्व कच्छ एस पी परीक्षिता राठौड़ ने मीडिया को बताया कि लोकल पुलिस, एसओजी, सेंट्रल आईबी, स्टेट आईबी समेत सभी इस मामले में अलग-अलग जांच कर रही है. हमारी जानकारी के अनुसार इन्मार सेटेलाइट फोन की सिक्योरिटी एजेंसी और गवर्नमेंट एजेंसी को दी गई है. इसके बाद भी उसके आईएमईआई नम्बर और सीडीआर (कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड) निकालकर जांच की जा रही है. साथ ही साथ एक टीम जांच कर रही है कि इसका दुरुपयोग आपराधिक गतिविधियों के लिए किया गया है या नहीं.