Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ब्लड प्रेशर और शुगर से ग्रसित 55 वर्षीय पुलिसकर्मी ने कोरोनो को दी मात, महकमे में खुशी

ब्लड प्रेशर और शुगर से ग्रसित 55 वर्षीय पुलिसकर्मी ने कोरोनो को दी मात, महकमे में खुशी

0
1357

कोरोना सबसे ज्यादा उम्र दराज और कुछ खास रोगों से ग्रसित लोगों को अपना शिकार बना रहा है. खासतौर से शुगर और ब्लड प्रेशर के मरीजों को इससे ज्यादा खतरा है. ऐसे में मेरठ से एक राहत की खबर आई है. मेरठ के एक 55 वर्षीय पुलिसकर्मी ब्लड प्रेशर और शुगर कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया था लेकिन उन्होंने इसे मात देकर एक नई उम्मीद जगाई है.

मेरठ पुलिस में हेड़कॉन्स्टेबल के पोस्ट पर तैनात मेरठ के विजेन्द्र शर्मा कोविड-19 के संक्रमण को परास्त करने वाले कोरोना योद्धा बन गए हैं. कोरोना को हराकर विजेन्द्र शर्मा ने लिसाड़ीगेट थाने में हेड़कॉन्स्टेबल के पद पर अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली है. 8 मई को वे कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे, तब पूरे महकमे में हड़कम्प मच गया था क्योंकि खाकी के संक्रमित होने का यह मेरठ का पहला मामला था.

इस पुलिसकर्मी ने कोरोना को मात देने के बाद अपना एक वीडियो भी जारी किया है. इस वीडियो में विजेन्द्र शर्मा शासन प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारियों को धन्यवाद देते हुए नज़र आ रहे हैं. विजेन्द्र शर्मा का कहना है कि वे बीपी और शुगर के मरीज हैं, लेकिन हिम्मत और हौसले की बदौलत वे इस बीमारी से लड़े. अस्पताल के इंतज़ाम, डॉक्टरों की मेहनत और उनका आत्मविश्वास रंग लाया और आखिरकार उन्होंने इस संक्रमण को मात दे दी.

हेड कांस्टेबल विजेंद्र शर्मा के ठीक होने से आलाधिकारी बेहद खुश हैं. एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह का कहना है कि विजेन्द्र के ठीक होने से समूचे पुलिस महकमे का मनोबल बढ़ा है. उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी हिम्मत और हौसले के साथ कोरोना योद्धा बनकर ड्यूटी कर रहे हैं और अगर वे संक्रमित हो रहे हैं तो भी उसी हिम्मत और जोश के साथ इस बीमारी को हरा रहे हैं.

पुलवामा की घटना दोहराने की फिराक में थे आतंकी, समय पर सेना ने निष्क्रिय की IED भरी कार