Gujarat Exclusive > देश-विदेश > फिर से इंसानियत हुई तार-तार, रिश्वत नहीं देने पर 6 साल के मासूम ने खींचा स्ट्रेचर

फिर से इंसानियत हुई तार-तार, रिश्वत नहीं देने पर 6 साल के मासूम ने खींचा स्ट्रेचर

0
618

आम आदमी अस्पतालों में इलाज के लिए जाते हैं. लेकिन कोरोना संकटकाल में अस्पताल से जुड़े लोग मौके की तलाश में रहते हैं कि कैसे लोगों को लूटा जाए. कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है उत्तर प्रदेश के देवरिया जिला से जहां अस्पताल में भर्ती एक शख्स ने सिर्फ 30 रुपया रिश्वत नहीं दिया तो अस्पतालकर्मियों ने स्ट्रेचर खींचने से इनकार कर दिया. जिसके बाद 6 साल के मासूम बच्चे ने स्ट्रेचर खींचकर ड्रेसिंग रूम में अपने नाना को पहुंचाया.

मिल रही जानकारी के अनुसार देवरिया जिला के छेदी यावद पिछले दिनों मारपीट के एक मामले में घायल हो गए थे. जिसके बाद उन्हे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनके ड्रेसिंग के लिए बार-बार उन्हे ड्रेसिंग रूम में ले जाना पड़ता है. जितनी बार उन्हे ड्रेसिंग रूम जाना होता है अस्पतालकर्मी उनसे 30 रुपया लेते हैं. लेकिन परिवार की आर्थिक स्थित अच्छी नहीं होने से परिजन ने पैसे देने से इनकार कर दिया जिसके बाद अस्पतालकर्मियों ने कहा कि वह अपने मरीज को खुद ड्रेसिंग रूम में लेकर जाएं.

अस्पताल में बीते कुछ दिनों से अपने पिता का इलाज करा रही छेदी यादव की बेटी बिंदू ने कहा कि अस्पतालकर्मियों के इस जवाब से मैं और मेरे 6 साल के मासूम बच्चे ने अपने पिता के स्ट्रेचर को खींचकर ड्रेसिंग रूम में पहुंचाया. ये दोनो लोग ड्रेसिंग रूम में मरीज को ले जा रहे थे इसी दौरान किसी ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया.

वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल में हंगामा मच गया. मामला सामने आने के बाद जिला अस्पताल सीएमएस डा.छोटेलाल ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि उन्‍हें इस बारे में जानकारी नहीं है. लेकिन मामले की पता लगाकर उचित कार्यवाही जरूर की जाएगी.

राजस्थान हाईकोर्ट में सचिन पायलट गुट की याचिका पर सुनवाई जारी