Gujarat Exclusive > गुजरात > सोशल मीडिया पर दावा- सरकार ने अडानी को बेची रेलवे

सोशल मीडिया पर दावा- सरकार ने अडानी को बेची रेलवे

0
428

सोशल मीडिया पर इन दिनों से फोटो (Adani Railway) तेजी से वायरल हो रही है. यह फोटो किसी प्लैटफॉर्म के टिकट की है. इसके ऊपर लिखा है, ‘अडानी रेलवे (Adani Railway) … रेलवे अब हमारी निजी संपत्ति है’. पुणे रेलवे स्टेशन के इस टिकट पर अन्य जानकारी भी है. इस पर तारीख, समय, टिकट का नंबर के अलावा और टिकट की कीमत 50 रुपये अंकित है.

सोशल मीडिया पर इस तस्वीर (Adani Railway) को शेयर कर एक यूजर ने सरकार की आलोचना की है. यूजर ने दावा किया है कि सरकार ने रेलवे को अडानी (Adani Railway) के हाथों में बेच दिया है.

 

अजाज खान चिंट्टू खान नामक य़ूजर ने इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा है, इंडियन रेलवे बना अडानी रेलवे. पेट्रोल 93..डीजल 80.. रुपये पार, घबराएं नही अच्छे दिनों का आनंद लीजिये। मास्क जरूर लगाएं ,मुँह बंद रखे।

यह भी पढ़ें: गुजरात में कोरोना वायरस ने अब तक छीनी 4288 जिंदगियां

जब इस तस्वीर की पड़ताल की गई तो अगस्त महीने में भी कई लोगों ने तस्वीर (Adani Railway) को शेयर कर टिकट की कीमत 5 रुपये से 50 रुपये करने को लेकर सरकार की आलोचना की थी.

हालांकि इस वायरल (Adani Railway) हो रहे फोटो पर लोगों की प्रतिक्रियाएं तेजी से आ रही हैं. एक यूज़र ने लिखा है: “ये निजी हाथों में सौंप दिए गए पुणे रेलवे स्टेशन का प्लेटफार्म टिकट है उलट पुलट के देख लीजिए,देखने का पैसा नहीं लगेगा. खरीदने का लगेगा 2 घंटे का 50 रुपया. मध्यमवर्ग ,गरीब वर्ग मुक्त स्टेशन बनना तय.”

क्या है सच्चाई

बता दें कि टिकट को फ़ोटोशॉप किया गया है एवं दाम बढ़ने का कारण कोविड-19 के वक़्त भीड़ कम करना था ना ही निजीकरण. बूम की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वास्तविक फोटो प्रशांत कनौजिया नामक यूजर ने पोस्ट की थी. इस वास्तविक फोटो में देखा जा सकता है कि कहीं भी “अडानी रेलवे: रेलवे अब हमारी निजी संपत्ति है” नहीं लिखा है. वायरल तस्वीर (Adani Railway) और वास्तविक तस्वीर की तुलना करने पर पाया गया कि दोनों एक ही टिकट हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ भारतीय रेलवे ने 2019 में पुणे प्लेटफॉर्म के प्रबंधन का कार्यभार एक निजी कंपनी बीजीवी को दिया है लेकिन जंक्शन अब भी सरकार का है. बता दें कि अडानी ग्रुप (Adani Railway) पर सरकार की मेहरबानियों के कारण उसकी आलोचना हो रही है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें