Gujarat Exclusive > राजनीति > दिल्ली के बाद अब उत्तराखंड में अपनी किस्मत आजमाएगी ‘आप’, तमाम सीटों पर लड़ेगी चुनाव

दिल्ली के बाद अब उत्तराखंड में अपनी किस्मत आजमाएगी ‘आप’, तमाम सीटों पर लड़ेगी चुनाव

0
875

दिल्ली विधानसभा 2020 में आम आदमी पार्टी प्रचंड जीत हासिल करने के बाद अब धीरे-धीरे अन्य राज्यों में अपनी पकड़ मजबूत करने के मकसद को लेकर अपने पांव पसारने में लगी है.

दिल्ली में मजबूत पकड़ बनाने के बाद आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऐलान किया है कि उनकी पार्टी उत्तराखंड में होने वाली आगमी विधानसभा की तमाम सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

सर्वे में 62 प्रतिशत लोगों ने चुनावी मैदान में उतरने की सलाह

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए कहा कि “हमने उत्तराखंड में सर्वे कराया, उसमें 62 प्रतिशत लोगों ने कहा कि हमें उत्तराखंड में चुनाव लड़ना चाहिए, तब हमने तय किया कि आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में चुनाव लड़ेगी. उत्तराखंड में रोज़गार, शिक्षा और स्वास्थ्य प्रमुख मुद्दे हैं.”

यह भी पढ़ें: राहुल का मोदी सरकार पर हमला, कहा- अर्थव्यवस्था के सर्वनाश का सच नहीं छुप सकता

आप से बढ़ी लोगों की उम्मीद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि “दोनों पार्टियों(कांग्रेस और बीजेपी) से लोगों की उम्मीद खत्म हो चुकी है. AAP से लोगों की उम्मीद है और चुनाव उम्मीद पर लड़ा जाता है.

उत्तराखंड में फरवरी 2022 में जो विधानसभा चुनाव होंगे उसमें सभी सीटों पर आम ​आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी”

2020 में दिल्ली में रचा था इतिहास

बता दें, आम आदमी पार्टी ने लगातार दो बार दिल्ली विधानसभा चुनाव में बंपर जीत हासिल कर सरकार बनाई है. अब आम आदमी पार्टी उत्तराखंड की सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी किसी भी पार्टी से गठबंधन के मूड में नहीं लग रही. दिल्ली से राजनीति में कदम रखने वाली ‘आप’ पहले पंजाब और गोवा में भी चुनाव लड़ चुकी है.

अब उत्तराखंड तीसरा राज्य होगा. उत्तर प्रदेश में भी आम आदमी पार्टी अपने पांव पसारने में जुटी हुई है.

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में प्रचंड जीत हासिल करने वाली आम आदमी पार्टी इससे पहले पंजाब और गोवा में भी चुनाव लड़ चुकी है.

ऐसे में अब पार्टी उत्तराखंड विधानसभा की 70 सीटों पर आगामी 2022 में होने वाले चुनाव में मैदान में उतरने का फैसला किया है.

दिल्ली विधानसभा चुनाव में केरजीवाल की पार्टी ने राजधानी दिल्ली के लोगों को शिक्षा, चिकित्सा और मुफ्त बिजली-पानी देने का वादा कर शानदार कामयाबी हासिल की थी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020: स्वच्छ शहरों में इंदौर का दबदबा कायम, सूरत को मिला दूसरा स्थान