Gujarat Exclusive > राजनीति > कृषि बिल पर राहुल गांधी का शायराना अंदाज में वार, पूंजीपति मित्रों का खूब विकास

कृषि बिल पर राहुल गांधी का शायराना अंदाज में वार, पूंजीपति मित्रों का खूब विकास

0
616
  • कृषि बिल पर दिन प्रतिदिन गहराता जा रहा है विवाद
  • कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर बोला हमला
  • राहुल ने मोदी सरकार पर किसानों को जड़ से साफ करने का लगाया आरोप

किसानों के विरोध और विपक्ष के हंगामे के बाद राज्यसभा और लोकसभा में कृषि से जुड़ा बिल पास हो चुका है.

लेकिन विपक्ष इस मामले को लेकर हंगामा करने वाले सांसदों के निलंबन पर हंगामा कर रही है.

विपक्ष साफ कर चुका है कि जबतक राज्यसभा के 8 सांसदों का निलंबन वापस नहीं लिया जाएगा सदन की कार्यवाही का बहिष्कार किया जाएगा. इस बीच राहुल गांधी ने कृषि बिल पर मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है.

यह भी पढ़ें: कृषि विधेयक के रूप में मोदी सरकार ने किसानों के खिलाफ मौत का फरमान निकाला: राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर बोला हमला

कृषि से जुड़े विधेयकों को विपक्ष किसान विरोधी बता रहा है. इस मामले को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा “2014- मोदी जी का चुनावी वादा किसानों को स्वामीनाथन कमिशन वाला MSP.

2015- मोदी सरकार ने कोर्ट में कहा कि उनसे ये न हो पाएगा. 2020- काले किसान क़ानून. मोदी जी की नीयत ‘साफ़’.कृषि-विरोधी नया प्रयास. किसानों को करके जड़ से साफ़.

पूँजीपति ‘मित्रों’ का ख़ूब विकास.”

 

आर्थिक संकट लाने के लिए केंद्र को बताया था जिम्मेदार

इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कृषि बिल को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला करते हुए ट्वीट किया था “लोकतांत्रिक भारत की आवाद को बंद करना जारी है.

शुरू में इसे शांत किया गया और अब किसान बिल का विरोध करने वाले सांसदों को निलंबित कर दिया गया. इस सर्वज्ञ सरकार के अंतहीन अहंकार ने पूरे देश के लिए आर्थिक संकट ला दिया है.”

चर्चा के दौरान हंगामा करने वाले सांसदों को किया गया था निलंबित

गौरतलब है कि रविवार को राज्यसभा में कृषि बिल पर चर्चा के दौरान हंगामा करने की वजह से कल राज्यसभा की कार्रवाई शुरू होते ही सदन के सभापति ने तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन और डोला सेन.

कांगेस के राजीव सातव, सैयद नजीर हुसैन और रिपुन बोरा. आम आदमी पार्टी के संजय सिंह. माकपा के केके रागेश और इलामारम करीम को निलंबित कर दिया था.

जिसके बाद से निलंबित सांसद संसद परिसर में मौजूद गांधी प्रतिमा के पास धरना कर रहे हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

जब तक सांसदों का निलंबन वापस नहीं होगा, विपक्ष राज्यसभा की कार्यवाही का करेगा बहिष्कार: गुलाम नबी आजाद