Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद अग्निकांड, समिति की रिपोर्ट के बाद ट्रस्टी के खिलाफ दर्ज हुआ मामला

अहमदाबाद अग्निकांड, समिति की रिपोर्ट के बाद ट्रस्टी के खिलाफ दर्ज हुआ मामला

0
342

अहमदबाद: श्रेय अस्पताल अग्निकांड में आठ लोगों की मौत के मामले में कल देर रात नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में अस्पताल के ट्रस्टी भरत महंत के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

श्रेय अस्पताल के आईसीयू वार्ड में लगने वाली आग की वजह से 8 मरीजों की मौत हो गई थी.

अस्पताल में लगने वाली आग की लपटे दिल्ली तक पहुंची थी. जिसके बाद राज्य सरकार हरकत में आते हुए मामले की जांच के लिए 2 आईएएस अधिकारियों की समिति बनाई थी.

साथ ही साथ समिति को निर्देश दिया गया था कि मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ 48 घंटें में कार्रवाई की जाए.

समिति की रिपोर्ट के बाद दर्ज हुआ मामला 

इस समिति ने एफएसएल रिपोर्ट, घटनास्थल की मुलाकात, और पुलिस की जांच और फायर अधिकारियों की राय लेने के बाद विशेष रिपोर्ट तैयार कर गुजरात सरकार को सौंपा था.

जिसने अस्पताल के ट्रस्टियों की गैरजिम्मेदारी को स्पष्ट किया गया था. रिपोर्ट सामने आने के बाद देर रात नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में आरोपी ट्रस्टी भरत महंत के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़ें: श्रेय अस्पताल आग, गुजरात में पहली बार कोरोना मरीजों का होगा पोस्टमॉर्टम

राज्य सराकर जांच समिति का किया था गठन 

गौरतलब है की श्रेय अस्पताल में आग की घटना घटित होने के बाद राज्य सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए गृह विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव संगीता सिंह और शहरी विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव मुकेश पुरी ने मामले की गहराई से जांच कर रिपोर्ट सौंपा था.

जांच रिपोर्ट का अध्यन करने के बाद राज्य सरकार ने मामले को लेकर सोमवार को सेवानिवृत्त उच्च न्यायालय के न्यायाधीश की अध्यक्षता में जांच आयोग को मामला दर्ज करने और न्यायिक जांच करने का निर्देश दिया था.

जिसके आधार पर कल देर रात नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में श्रेय अस्पताल के ट्रस्टी भरत महंत के खिलाफ मामला दर्ज किया गया.

श्रेय अस्पताल में आग लगने से 8 मरीजों की हुई थी मौत 

बीते दिनों नवरंगपुरा के श्रेय अस्पताल में देर रात करीब 3.30 बजे आग लगने की वजह से इलाज करवा रहे कुल 8 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है.

जिसमें मृतकों की पहचान अरविंद भावसार, नवीनलाल शाह, लीलावती शाह, आयशा तिर्मिजी, मनुभाई रामी, ज्योति सिंधी, नरेंद्र शाह और आरिफ मंसूरी के रूप में हुई है.

आग की घटना के बाद अस्पताल में इलाज कराने वाले अन्य मरीजों को फौरन एसवीपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

श्रेय अस्पताल केस: श्मशान घाट की रसीद में मौत का कारण कोरोना दर्ज!