Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना काल में घर बैठे सरकारी नौकरी के बहाने कोरड़ों की ठगी करने वाला गिरफ्तार

कोरोना काल में घर बैठे सरकारी नौकरी के बहाने कोरड़ों की ठगी करने वाला गिरफ्तार

0
343
  • लाखों रुपया ठगने वाले ठग गिरोह का साइबर सेल ने किया पर्दाफाश
  • आरोपी ने कोविद 19 में घर बैठे सरकारी नौकरी के लिए अखबार में दिया विज्ञापन
  • आरोपी राजकोट-गांधीनगर में दफ्तर रखकर सरकारी नौकरी में भर्ती के नाम किया धोखाधड़ी

अहमदाबाद: साइबर सेल ने कोविद 19 में घर बैठे अनुबंध के आधार पर सरकारी नौकरी का विज्ञापन देकर लोगों से करोड़ों रुपये ठगने वाले ठगों के एक गिरोह का पर्दाफाश किया है.

इस तरह का विज्ञापन देकर लोगों के साथ धोखाधड़ी करने वाले एक आरोप को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है कि इस घोटाले में और कौन-कौन शामिल है.

आरोपियों ने कोरोना काल में घर बैठे सरकारी नौकरी का दिया था विज्ञापन

कोरोना महामारी के इस दौर में घर बैठे-बैठे सरकारी नौकरी, जिसमें व्यवसाय विकास अधिकारी, ग्राहक सेवा अधिकारी, जिला अधिकारी, कंप्यूटर ऑपरेटर, डाटा एंट्री ऑपरेटर और राइटर के पदों के लिए कुल 2,520 से अधिक रिक्तियों के लिए अखबार में विज्ञापन दिया था.

यह भी पढ़ें: सूदखोरों के खिलाफ गुजरात डीजीपी की लाल आंख, कड़ी कार्रवाई का आदेश

सभी जिलों में 11 महीने के अनुबंध के आधार पर भर्ती करने की आरोपियों ने जानकारी दी थी. आरोपियों ने ऑनलाइन फॉर्म के साथ 300 रुपया भरने को कहा था.

इस तहर होने वाले ठगाई का मामले को साइबर सेल के संज्ञान में लिया था. सरकारी नौकरी के नाम पर नौकरी चाहने वालों को ठगा जा रहा था. मामला सामने आने के बाद पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही थी.

पुलिस जांच में पता चला कि इस तरह का विज्ञापन देने वाला शख्स सचिन प्रतापराय पंड्या और रघुवीर सिंह सरवैया हैं. पुलिस ने सचिन को गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ कर रही है.

पुलिस जांच कर रही है कि इस मामले में और कौन-कौन शामिल है. आरोपी 300 रुपया ऑनलाइन फॉर्म के साथ आवेदन शुल्क जमा कराने का निर्देश दिया था. इस तरह से आरोपियों के खातों में 14 लाख रुपया जमा हुआ था.

आरोपी राजकोट और गांधीनगर में कार्यालय खोलकर सरकारी नौकरी की भर्ती के नाम पर एक जालसाज का नेटवर्क चला रहा था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

सरकारी दिशा-निर्देशों के अनुसार स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को पर्यटकों के लिए खोला गया