Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद-गांधीनगर में कोरोना से मौत की संख्या में सही कौन, श्मशान गृह या स्वास्थ्य विभाग?

अहमदाबाद-गांधीनगर में कोरोना से मौत की संख्या में सही कौन, श्मशान गृह या स्वास्थ्य विभाग?

0
559

गांधीनगर: गुजरात में कोरोना के बढ़ते आंतक के बीच अभी कुछ दिन पहले कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने राज्य सरकार पर कोरोना के दर्ज नए मामलों की सही जानकारी छिपाने का आरोप लगाया था. Ahmedabad-Gandhinagar corona Death 

ऐसे में एक चौंकाने वाली जानकारी सामने यह आ रही है कि कोरोना से मरने वालों की जो संख्या गुजरात स्वस्थ्य विभाग बता रही है वह सही या फिर श्मशान गृह से जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वह सही है क्योंकि इन दोनों के आंकड़ों में जमीन आसमान का फर्क है.Ahmedabad-Gandhinagar corona Death

दो प्रमुख शहरों के आंकड़ों में जमीन आसमान का फर्क

गुजरात के दो प्रमुख शहर अहमदाबाद और गांधीनगर में पिछले कुछ दिनों से दर्ज मौत का आंकड़ा एक अलग वास्तविकता दिखाती हैं.

अहमदाबाद में 25 नवंबर को कोरोना से मरने वाले कुल 90 लोगों का अलग-अलग श्मसान गृहों में अंतिम संस्कार किया गया था.

इसके सामने नगर निगम की ओर से जो आंकड़े मरने वालों के दिए गए थे. उसमें सिर्फ 9 लोगों की मौत बताया गया था.Ahmedabad-Gandhinagar corona Death

90 लोगों का हुआ अंतिम संस्कार और सरकारी रिकॉर्ड में 9 लोगों की मौत दर्ज Ahmedabad-Gandhinagar corona Death

उस दिन यानी 25 नवंबर को शहर के वाडज स्मशान गृह में 35 का अंतिम संस्कार किया गया था. अहमदाबाद में आज स्थिति यह है कि श्मशान गृह में लोगों को इंतज़ार करना पड़ रहा है.

इतना ही नहीं शव ले जाने वालों को अंतिम संस्कार के लिए घंटों इंतजार करना पड़ता है. एम्बुलेंस चालकों का कहना है कि वे इंतजार करते-करते थक जाते हैं.

उनका अस्पताल और श्मशान के बीच का दौरा लगातार जारी रहता है. सामान्य दिनों में 108 चालक एक दिन में तीन से चार कॉल अटैंड करते थे.

लेकिन आज इन लोगों को हर दिन अनगिनत कॉल अटैंड करना पड़ रहा है. Ahmedabad-Gandhinagar corona Death

यह भी पढ़ें: गुजरात में नहीं लगेगा लॉकडाउन, 4 शहरों में जारी रहेगा रात का कर्फ्यू: विजय रूपाणी

गांधीनगर में भी मरने वालों के आंकड़ों में भारी उलटफेरAhmedabad-Gandhinagar corona Death

इसके साथ ही राजधानी गांधीनगर में भी स्थिति ऐसी ही है. गांधीनगर के सेक्टर -30 में मौजूद श्मशान गृह में पिछले 10 दिनों में यानी 16 से 26 नवंबर के बीच 118 दाह संस्कार किए गए हैं.

इसके सामने गांधीनगर नगर निगम के डायरी में सिर्फ बाईस की मौत दिखाई गई है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि अहमदाबाद और गांधीनगर नगर निगम सही आंकड़े क्यों छिपा रही है.

अहमदाबाद और गांधीनगर नगर निगम सही आंकड़े क्यों छिपा रही है. इतना ही नहीं श्मशान गृह किसके आदेश पर कोरोना से मौत का सही आंकड़ा नहीं बताते.

कोरोना से मृत्यु के मामले में, मौत का कारण अन्य बीमारी बताया जा रहा है. उन्हें ऐसे करने के लिए आदेश किसने दिए?

नगर निगम किसके आदेश का पालन करते हुए सही तथ्य छुपा रहा है.Ahmedabad-Gandhinagar corona Death

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अहमदाबाद: उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने 108 कर्मचारियों को लगाई फटकार