Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद मनपा की सामान्य सभा में कांग्रेस विधायक इमरान खेड़ावाल को नो एंट्री

अहमदाबाद मनपा की सामान्य सभा में कांग्रेस विधायक इमरान खेड़ावाल को नो एंट्री

0
481
  • मेयर ने इमरान खेड़ावाला की कोरोना रिपोर्ट को अमान्य घोषित किया
  • इमरान खेडावाला ने ट्वीट मेयर को बताया तानाशाह
  • ट्विटर हैंडल पर अपने कोरोना रिपोर्ट की कॉपी शेयर किया

अहमदाबाद: कोरोना महामारी की वजह से पांच महीने बाद आज अहमदाबाद नगर निगम की सामान्य सभा में पालड़ी स्थित टैगोर हॉल में आयोजित की गई.

लेकिन इस बैठक में जमालपुर के विधायक इमरान खेड़ावाला को एंट्री नहीं दी गई. क्योंकि मेयर बिजलबेन पटेल ने उनकी कोरोना रिपोर्ट को अमान्य करार देते हुए बैठक से बाहर निकाल दिया.

इस घटना के बाद इमरान खेड़ावाला ने ट्वीट किया मेयर बिजल पर जमकर हमला बोला “महापौर तानाशाह है. उन्होंने मुझे बैठक में नहीं बैठने दिया.

अगर गुजरात सरकार इस कोरोना की रिपोर्ट को मान रही है तो अहमदाबाद नगर निगम की मेयर ने क्यों नहीं मान रहीं ? मुझे यह नहीं समझ में आ रहा है कि मेयर बड़ी हैं या फिर गुजरात के मुख्यमंत्री.”

पांच महीने बाद हो रही है सामान्य सभा की बैठक

कोरोना महामारी की वजह से पिछले पांच महीनों से अहमदाबाद नगर निगम की मासिक आम बैठक ऑनलाइन आयोजित की जाती थी. लेकिन दो दिन पहले टैगोर हॉल पालड़ी में बैठक आयोजित करने की घोषणा की गई थी.

बैठक में हिस्सा लेने वाले सभी पार्षदों को अपना कोरोना टेस्ट कराने का निर्देश दिया गया था. बैठक में हिस्सा लेने से पहले 23-24 सितंबर को टैगोर हॉल में कोरोना के टेस्ट का आयोजन किया गया था.

इस टेस्ट में जिन पार्षदों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी उन्हीं को बैठक में हिस्सा लेने की अनुमति दी गई थी.

यह भी पढ़ें: उग्र आंदोलन की वजह से शामलाजी-उदयपुर हाइवे बंद, कल हुई थी हिंसक घटना

मेयर बिजलबेन पटेल ने कांग्रेसी विधायक के कोरोना रिपोर्ट को किया अस्वीकार

आज से शुरू होने वाली बैठक में जमालपुर निर्वाचन क्षेत्र के विधायक इमरान खेड़ावाला भी भाग लेने गए. लेकिन मेयर बिजल पटेल ने उन्हे सभाखंड से बाहर निकाल दिया.

उन्होंने दलील देते हुए कहा कि 20 तारीख को निगम के स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उनका कोरोना टेस्ट किया था जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी.

लेकिन उनके दलील को नहीं माना गया. जिसके बाद उन्होंने ट्वीट कर जमकर अपनी भड़ास निकाली.

इमरान खेड़ावाला ने मेयर को तानाशाह बताते हुए उन्हे सीएम विजय रूपाणी से भी बड़ा बता दिया.

गौरतलब है कि पिछले दिनों विधायक इमरान खेड़ावाला कोरोना की चपेट में आ गए थे. उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने से पहले वह सीएम रूपाणी से मुलाकात की थी.

उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इलाज के लिए एसवीपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात: आणंद जिले के 6 गांवों में 29 सितंबर तक स्वैच्छिक तालाबंदी का ऐलान