Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबादः बलात्कार की नाकाम कोशिश के बाद मामा ने कर डाली 7 साल की बच्ची की हत्या

अहमदाबादः बलात्कार की नाकाम कोशिश के बाद मामा ने कर डाली 7 साल की बच्ची की हत्या

0
793

अहमदाबाद (Ahmedabad) के सोला इलाके में अपने घर से लापता हुई सात साल की बच्ची के मामा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इस शख्स को बच्ची की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है.

अहमदाबाद (Ahmedabad) पुलिस ने 7 वर्षीय खुशी (बदला हुआ नाम) के अपहरण और हत्या के मामले में भावेश मिस्त्री नामक शख्स को गिरफ्तार किया है. भावेश को खुशी की मां राखी बांधती थी.

शनिवार को जब खुशी अपने घर के पास खेल रही थी तब भावेश ने उसे बुलाया. मामा कहकर बुलाने वाले शख्स के साथ बच्ची चली गई.

इसके बाद भावेश बच्ची को एक ऑटोरिक्शा में बैठाकर अहमदाबाद (Ahmedabad) के वैष्णोदेवी इलाके में ले गया. फिर वह उसे एक सुनसान जगह पर ले जाकर उसके साथ बलात्कार करने का प्रयास किया. जब बच्ची ने मदद के लिए आवाज लगाई, तो उसने पकड़े जाने के डर से बच्ची की हत्या कर दी.

यह भी पढ़ें: गुजरात में एक लाख 17 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित, 1364 नए मरीज मिले

अहमदाबाद (Ahmedabad) के गोता में एक हाउसिंग सोसाइटी के निवासी मिनेश राजपूत (बदला हुआ नाम) अपनी पत्नी और बेटी के साथ रहते थे. मिनेश और उनकी पत्नी दोनों मजदूरी का काम करते हैं. घर के पास खेल रही बच्ची शनिवार को लापता हो गई थी. परिवार ने शाम में अपनी बच्ची को घर में ढूंढा लेकिन वह नहीं मिली. बच्ची के नहीं मिलने के बाद दंपति ने अहमदाबाद (Ahmedabad) के सोला पुलिस से संपर्क किया.

पुलिस और क्राइम ब्रांच ने शुरू की तलाश

लापता बच्ची की तलाश में सोला पुलिस के साथ-साथ क्राइम ब्रांच भी जुटी हुई थी. अहमदाबाद (Ahmedabad) पुलिस को जांच के दौरान भावेश के बारे में पता चला और उसे पूछताछ के लिए लाया गया. भावेश ने शुरू में पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन आखिरकार वह टूट गया और उसने बच्ची के साथ बलात्कार करने की कोशिश की बात कबूली.

उसने कथित तौर पर उसका अपहरण करना भी कबूल किया. उसने कहा कि जब वह उसे भगाने की कोशिश करने लगा तो बच्ची ने चिल्लाना शुरू कर दिया और उसे चुप कराने के लिए उसे मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद वह वापस लौट आया.

भावेश पुलिस को उस स्थान पर भी ले गया जहां से उसने बच्ची के शव को छोड़ा दिया था. पुलिस ने कहा कि दोनों परिवार करीबी थे और भावेश, खुशी की मां के भाई की तरह था. बच्ची उसे मामा कहकर बुलाती थी.

ऐसा ही मामला है अनसुलझा

साल 2009 में अहमदाबाद (Ahmedabad) के बापूनगर में एक नगरपालिका स्कूल के शौचालय में 7 वर्षीय बच्ची का शव मिला था. मरने से पहले बच्ची के साथ बलात्कार किया गया था. वह मामला अभी भी सुलझ नहीं पाया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें