Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद रेलवे स्टेशन पर पिछले 20 दिनों में 488 यात्री मिले कोरोना संक्रमित

अहमदाबाद रेलवे स्टेशन पर पिछले 20 दिनों में 488 यात्री मिले कोरोना संक्रमित

0
482

मनोज के कारिया, अहमदाबाद: पिछले 20 दिनों में ट्रेनों में अहमदाबाद आने वाले कम से कम 488 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. इन यात्रियों का अहमदाबाद नगर निगम (AMC) के स्वास्थ्य विभाग द्वारा कालूपुर रेलवे स्टेशन (Ahmedabad Railway Station) पर कोरोना टेस्ट किया गया.

गौरतलब है कि 7 से 26 सितंबर के दौरान 33,289 रेल यात्रियों का कोरोना टेस्ट किया गया. इसमें से 488 कोरोना से संक्रमित पाए गए. हालांकि स्थिति की गंभीरता का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि 7 सितंबर से पहले रेलवे स्टेशन (Ahmedabad Railway Station) पर कोरोना टेस्ट की ऐसी कोई व्यवस्था नहीं थी. ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि अहमदाबाद स्टेशन (Ahmedabad Railway Station) के जरिये शहर में कितने संक्रमित यात्रियों ने प्रवेश किया होगा.

अहमदाबाद के लिए चलती हैं रोज 3 ट्रेन

अब तक तीन ट्रेनें दैनिक आधार पर विभिन्न स्थानों से अहमदाबाद में आती हैं. इसमें अहमदाबाद-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस और गोरखपुर एक्सप्रेस शामिल हैं. इसके अलावा, हावड़ा एक्सप्रेस भी साप्ताहिक आधार पर शहर में आती है.

यह भी पढ़ें: गुजरात में नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण, अहमदाबाद की स्थिति बिगड़ी

स्टेशन के पास कोविड केयर सेंटर

रेलवे ने साबरमती रेलवे स्टेशन के पास एक कोविड केयर सेंटर बनाया है. अब जो भी यात्री कोरोना संक्रमित पाए जाते हैं और जिनके लक्षण गंभीर होते हैं, उन्हें उपचार के लिए रेलवे की सुविधा केंद्र में ले जाया जाता है. इसके अलावा समान्य लक्षण वाले लोगों को होम क्वारंटाइन किया जाता है.

इससे पहले कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले गंभीर लक्षण के यात्रियों को शहर के कोविड अस्पतालों में भेजा जाता था. हालांकि रेलवे प्रशासन के नए केंद्र से यह सुनिश्चित हुआ है कि स्टेशन पर कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले यात्रियों की वजह से AMC और राज्य सरकार के कोविड केयर अस्पतालों में अधिक भीड़भाड़ न हो.

AMC का रणनीतिक बदलाव

पहले एएमसी प्रवासी मजदूरों के कार्यस्थलों का पता लगाकर कोरोना टेस्ट करता था. हालांकि एएमसी की स्वास्थ्य टीम के लिए शहर भर के प्रवासियों को ट्रैक करना और उनके परीक्षण करना मुश्किल था. ऐसे में उन्होंने रेलवे स्टेशन (Ahmedabad Railway Station) पर ही एक्टिव टेस्टिंग अभियान शुरू किया क्योंकि दूसरे राज्यों के अधिकांश प्रवासी ट्रेनों के जरिये ही अहमदाबाद आते हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें