Gujarat Exclusive > राजनीति > धरने पर बैठे अखिलेश यादव को हिरासत में लिया गया, योगी सरकार ने रोकी किसान यात्रा

धरने पर बैठे अखिलेश यादव को हिरासत में लिया गया, योगी सरकार ने रोकी किसान यात्रा

0
301

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. लखनऊ में धरने पर बैठे समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. किसान आंदोलन (Farmers Protest) के समर्थन में कन्नौज में होने वाली “किसान यात्रा” की शुरुआत कर रहे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को सोमवार को उनके घर के पास हिरासत में लिया गया.

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को कन्नौज जाने से रोकने के लिए पुलिस ने उनके लखनऊ स्थित आवास के बाहर बैरिकेडिंग की थी. अखिलेश यादव के घर से निकले पर पुलिस उन्हें रोकने की कोशिश की, जिसके बाद वह सपा समर्थकों के साथ सड़क पर धरने पर बैठ गए. पुलिस ने सपा सुप्रीमो के साथ कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है.

यह भी पढ़ें: सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, शिलान्यास पर पाबंदी नहीं

बता दें कि प्रदेश में किसान आंदोलन के मद्देनजर धारा 144 लागू है. अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) किसानों के समर्थन में कन्नौज से ट्रैक्टर रैली निकालना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उनके आवास के आस-पास के इलाके को सील कर उन्हें रोक रखा है.

अखिलेश ने लगाया आरोप

सपा सुप्रीमो (Akhilesh Yadav) ने इसके लिए सरकार पर आरोप लगाया है. अखिलेश ने कहा,

हम किसानों से बात करना चाहते हैं, सरकार उनकी बात नहीं सुन रही. बीजेपी पर एकतरफा फैसले का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार को किसानों का श्राप लगेगा.

वहीं समाजवादी पार्टी ने अखिलेश यादव को किसान यात्रा के लिए रोकने की कड़ी निंदा की है. सपा ने कहा,

अन्नदाता से अन्याय के खिलाफ अंतिम सांस तक समाजवादी संघर्षरत रहेंगे. किसान यात्रा को रोकने के लिए दमन की हर सीमा पार कर रही है सत्ता. किसानों की आवाज़ बुलंद करने निकले राष्ट्रीय अध्यक्ष को असंवैधानिक तरीके से सीएम के आदेश पर रोके जाना घोर निंदनीय!”   

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी या भाजपा के विरोध की राजनीति करने वाले जो भी दल हैं, ये जन्मजात किसान विरोधी लोग हैं. ये किसानों के हितैषी नहीं हैं, उनके दुश्मन हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें