Gujarat Exclusive > राजनीति > योगी सरकार विधानसभा में असल मुद्दों पर बहस करना ही नहीं चाहती: अखिलेश यादव

योगी सरकार विधानसभा में असल मुद्दों पर बहस करना ही नहीं चाहती: अखिलेश यादव

0
94

उत्तर प्रदेश विधानसभा का इन दिनों बजट सत्र चल रहा है. इस बीच नेता विपक्ष ने आरोप लगाया कि BJP चाहती है कि असल मुद्दों पर बहस ना हो, आखिर बेरोजगारी कब दूर होगी? इतनी भर्तियां निरस्त हो गई जिनके पेपर लीक हुए, इस बहस पर नहीं जाना चाहते हैं. बहस के मुद्दे दूसरे बनाने की कोशिश होगी लेकिन हमारी और विपक्ष की कोशिश होगी कि सरकार को मुद्दे पर रखे.

इसके अलावा सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार वो आंकड़े दे कि इतने किसानों का गन्ने का पैसा बकाया है. इस सरकार मे जहां बिजली महंगी हो गई हो, खाद महंगी और कोई भी इंतजाम मंडी का नहीं किया. गेहूं की खरीद में कहीं भी सरकारी खरीद नहीं हुई, सरकार बड़े-बड़े उद्योगपतियों से मिल गई.

जातीय जनगणना की मांग करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी इस पक्ष में है कि जातीय जनगणना होनी चाहिए, जब सरकार कह रही है हम डेटा सेंटर बनाएंगे, डेटा सेंटर के लिए निवेश कर रहे हैं तो सरकार आगे क्यों नहीं आती है कि जातीय जनगणना भी करें.

अखिलेश यादव के बयान पर पलटवार करते हुए सीएम योगी ने कहा कि हम ढिंढोरा पीट-पीट कर यह नहीं कहते थे कि हमने मेट्रो चला दी, एक्सप्रेसवे बना दिया. जनता जानती थी कि कौन शिलान्यास कर रहा है और कौन उद्घाटन कर रहा है. कौन राशन दे रहा है, कौन अपराधों को नियंत्रण कर रहा है. ये जनता जनार्दन जानती थी और इसलिए तमाम अफवाहों को दरकिनार करते हुए भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व पर विश्वास किया और सरकार को पुन: आने का अवसर दिया.

उत्तराखंड में जल्द लागू होगा समान नागरिक संहिता कानून, CM धामी ने वादे को दोहराया