Gujarat Exclusive > देश-विदेश > अमेरिका का दावा वुहान के लैब से ही निकला है कोरोना, हमारे पास अहम सबूत: विदेश मंत्री

अमेरिका का दावा वुहान के लैब से ही निकला है कोरोना, हमारे पास अहम सबूत: विदेश मंत्री

0
414

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि उनकी सरकार के पास इस बात के अहम सबूत हैं कि कोरोनावायरस की उत्पत्ति चीन के शहर वुहान में स्थित एक प्रयोगशाला में हुई थी, जहां पिछले दिसंबर में कोविड -19 की महामारी सबसे पहले सामने आई थी. समाचार एंजेसी एफे के मुताबिक, पोम्पियो ने रविवार को एबीसी न्यूज से कहा, इस बात के अहम सबूत हैं कि यह वुहान स्थित उस प्रयोगशाला से आया.

उन्होंने आगे कहा कि यह मानव निर्मित है और ‘बेहतरीन विशेषज्ञों को अब तक ऐसा लगा है कि यह मानव निर्मित है.’ पोम्पियो ने कहा, मेरे पास इस पड़ाव पर इस बात पर विश्वास करने का कोई कारण नहीं है. हालांकि उन्होंने इस बयान के समर्थन में कोई सबूत नहीं दिया. पोम्पियो ने कहा कि चीन का दुनिया को संक्रमित करने का इतिहास है. उन्होंने कहा कि चीन की प्रयोगशालाएं सफाई और सुरक्षा प्रक्रियाओं के मामले में घटिया स्तर की हैं. जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, अमेरिका में सोमवार तक कोरोना के 1,158,040 मामले सामने आ चुके हैं और 67,682 मौतें हो चुकी हैं.

कोविड-19 संक्रमण का वैश्विक आंकड़ा 35 लाख के पार

विश्व में कोरोनावायरस महामारी के चलते संक्रमित हुए लोगों की संख्या 35 लाख के पार पहुंच गई है, जबकि कोविड-19 संक्रमण के कारण अब तक दो लाख से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवाई है. अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने यह जानकारी दी. जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) द्वारा सोमवार सुबह जारी किए गए नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, महामारी से वैश्विक तौर पर अब तक कुल 35 लाख सात हजार 53 लोग संक्रमित हुए है. वहीं, मरने वालों का आंकड़ा 2 लाख 47 हजार 107 हो गया है.

अमेरिका इस महामारी का सबसे बड़ा शिकार बना

कोविड-19 संक्रमण के 11 लाख 58 हजार 41 मामलों और 67 हजार 682 मौतों के साथ अमेरिका महामारी से सबसे अधिक प्रभावित हुआ है. इसके बाद स्पेन और इटली का स्थान है. यहां क्रमश: 2 लाख 17 हजार 466 और 2 लाख 10 हजार 717 मामले देखने को मिले हैं. वहीं, ब्रिटेन में संक्रमितों की संख्या 1 लाख 87 हजार 842, फ्रांस में 1 लाख 68 हजार 925, जर्मनी में 1 लाख 65 हजार 664, रूस में 1 लाख 34 हजार 687, तर्की में 1 लाख 26 हजार 45 और ब्राजील में 1 लाख 1 हजार 826 दर्ज की गई है. अमेरिका के बाद सबसे अधिक मौतों वाले देश में इटली (28,884), ब्रिटेन (28,446), स्पेन (25,264), और फ्रांस (24,864) का स्थान है.

गुजरात से प्रवासी मजदूर घर जाने को बेचैन, अब तक 21 लाख ने कराया रजिस्ट्रेशन