Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना से जारी जंग के बीच, गुजरात के वैज्ञानिकों ने खोजा कोरोना का जीनोम सिक्वेंस

कोरोना से जारी जंग के बीच, गुजरात के वैज्ञानिकों ने खोजा कोरोना का जीनोम सिक्वेंस

0
3089

अहमदाबाद: देश ही नहीं पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए वैज्ञानिक नए-नए तरीके खोज रहे हैं. वैक्सीन बनाने का तरीका निकाल रहे हैं. इसी बीच, गुजरात के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में एक बड़ी सफलता हासिल की है. यहां के वैज्ञानिकों ने देश में पहली बार कोरोना वायरस के पूरे जीनोम सिक्वेंस को खोजा है.

गुजरात बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के पूरे जीनोम सिक्वेंस को खोज लिया है. GBRC के निदेशक चैतन्य जोशी ने ट्वीट करके यह जानकारी दी. बाद में गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी इसे रीट्वीट किया और वैज्ञानिकों को बधाई दी.

स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव डॉ जयंती रवि ने बताया कि देश भर में गुजरात की यह लेबोरेटरी अकेली ऐसी सरकारी लेबोरटरी है जिसने इस तरह की अहम सफलता प्राप्त की है. गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से भी इस संबंध में जानकारी दी गई है. सीएमओ की ओर से कहा गया कि जीबीआरसी के वैज्ञानकों ने कोविड-19 के पूरे जीनोम सिक्वेंस को खोज निकाला है जिससे इस वायरस की उत्पत्ति, ड्रग टारगेट, वैक्सीन व अन्य संबंधी मदद मिल सकेगी.

इससे पहले गुजरात ने एक लाख से कम कीमत के वेंटिलेटर और पीपीई सूट बनाने में सफलता प्राप्त कर चुकी है. राज्य सरकार के विज्ञान व तकनीक विभाग की ओर से अगस्त 2017 में जीबीआरसी की स्थापना की गई थी. जीबीआरसी बायोटेक्नोलोजी क्षेत्र में रिसर्च को बढ़ावा देने का काम करती है.

राहुल गांधी के बाद अब विशेषज्ञों ने कहा- भारत को कोरोना वायरस की जांच बढ़ाने की जरूरत