Gujarat Exclusive > देश-विदेश > बॉम्बे हाई कोर्ट से अनिल देशमुख को बड़ा झटका, CBI करेगी मामले की जांच

बॉम्बे हाई कोर्ट से अनिल देशमुख को बड़ा झटका, CBI करेगी मामले की जांच

0
196

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के लेटर बम से महाराष्ट्र का सियासी पारा अपने चरम सीमा पर है. यह मामला अब कोर्ट की दहलीज पर पहुंच चुका है.

बॉम्बे हाई कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए देशमुख को करारा झटका दिया है. Anil Deshmukh corruption charges CBI investigation

कोर्ट ने गृह मंत्री के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के मामले की सीबीआई को प्राथमिक जांच करने का आदेश दिया है. जांच एजेंसी को इस पूरी प्रक्रिया के लिए 15 दिनों का वक्त दिया गया है.

CBI करेगी मामले की जांच Anil Deshmukh corruption charges CBI investigation

बॉम्बे हाई कोर्ट ने वकील जयश्री पाटिल की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि देशमुख राज्य के गृह मंत्री हैं ऐसे में पुलिस की ओर से उनके खिलाफ निष्पक्ष जांच की संभावना कम है.

इसलिए कोर्ट ने देशमुख पर पूर्व कमिश्नर परमबीर की ओर से लगाए गए आरोपों की प्राथमिक जांच शुरू करने का निर्देश दिया है. Anil Deshmukh corruption charges CBI investigation

कोर्ट की ओर से सीबीआई जांच का आदेश देशमुख के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है.

अनिल देशमुख ने दी जानकारी  Anil Deshmukh corruption charges CBI investigation

बीते दिनों अपनों के सवालों से घिरे अनिल देशमुख ने कहा कि जो आरोप मुझ पर पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर ने लगाए थे, मैंने उसकी जांच कराने की मांग की थी.

मुख्यमंत्री और राज्य शासन ने मुझ पर लगे आरोपों की जांच उच्च न्यायालय के रिटायर्ड जज के द्वारा करने का निर्णय लिया है. जो भी सच है वह सामने आएगा.

परमबीर सिंह ने पत्र में क्या लिखा Anil Deshmukh corruption charges CBI investigation

परमबीर सिंह ने चिट्ठी में लिखा कि मुंबई पुलिस की अपराध शाखा के क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट के हेड सचिन वाजे को महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने पिछले कुछ महीनों में कई बार अपने सरकारी आवास ज्ञानेश्वर में बुलाया. Anil Deshmukh corruption charges CBI investigation

यहां बार-बार सचिन वाजे को रुपये कलेक्ट करने का निर्देश दिया. फरवरी के मध्य और उसके बाद गृह मंत्री ने वाजे को अपने सरकारी आवास पर बुलाया था.

उस समय गृह मंत्री के एक-दो कर्मचारी, जिनमें उनके निजी सचिव भी शामिल थे, वहां मौजूद थे.

गृह मंत्री ने वहां वाजे को कहा कि उनके पास हर महीने 100 करोड़ रुपये जमा करने का टारगेट है. Anil Deshmukh corruption charges CBI investigation

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना संक्रमित अक्षय कुमार की खराब हुई तबीयत, अस्पताल में भर्ती