Gujarat Exclusive > देश-विदेश > निर्भया केस में नया ट्विस्ट, एक फरवरी को होने वाली फांसी पर लगे रोक, पटियाला हाउस कोर्ट में पहुंचा मामला

निर्भया केस में नया ट्विस्ट, एक फरवरी को होने वाली फांसी पर लगे रोक, पटियाला हाउस कोर्ट में पहुंचा मामला

0
244

निर्भया केस में एक और नया मोड़ आ गया है एक फरवरी को होने वाली फांसी की सजा पर रोक लगाने की मांग को लेकर दोषियों के वकील ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, निर्भया केस में मौत की सजा का सामना कर रहे दोषियों के वकील ने एक फरवरी को तय फांसी पर स्थगन की मांग के साथ दिल्ली की अदालत का रुख किया है.

वकील एपी सिंह ने अपनी याचिका में दावा किया कि दिल्ली जेल नियम के अनुसार, एक ही अपराध के चारों दोषियों में से किसी को भी तब तक फांसी पर नहीं लटकाया जा सकता, जब तक कि अंतिम दोषी की दया याचिका सहित सभी कानूनी विकल्प नहीं आजमा लेता.

बता दें कि निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले में मौत की सजा पाए एक अन्य दोषी विनय शर्मा ने जहां बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के समक्ष दया याचिका दायर की, वहीं एक अन्य दोषी अक्षय ठाकुर ने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष क्यूरेटिव पिटिशन दायर की, जिस पर आज सुनवाई होनी है.

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों-मुकेश कुमार सिंह, पवन गुप्ता, विनय कुमार शर्मा और अक्षय कुमार सिंह को एक फरवरी को सुबह छह बजे फांसी पर लटकाने के लिए 17 जनवरी को दूसरी बार डेथ वारंट जारी किया था. इससे पहले भी निर्भया के आरोपी कई बार फांसी से बचने के लिए इस तरीके का हस्थकंडे अपना चुके हैं.