Gujarat Exclusive > गुजरात > अन्य राज्यों में फंसे गुजरातियों को वापस लाने के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति

अन्य राज्यों में फंसे गुजरातियों को वापस लाने के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति

0
1765

गांधीनगर: कोरोना वायरस महामारी पूरी दुनिया में देखी जा रही है. कोरोना वायरस के कारण गुजरात में भी तालाबंदी है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विभिन्न राज्यों से फंसे हुए प्रवासी मजदूरों, छात्रों और पर्यटकों की वापसी को मंजूरी दे दी है. जिसे देखते हुए गुजरात सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे गुजरातियों को वापस लाने के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्त की है इनके संपर्क के माध्यम से फंसे हुए लोग अपनी घर पहुंच पाएंगे. हालाँकि इस दौरान कुछ शर्तों का भी पालन करना होगा.

भारत के अन्य राज्यों में फंसे गुजरातियों को वापस लाने के लिए गुजरात सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है. मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने नोडल अधिकारियों के साथ बातचीत की और नोडल अधिकारियों के नाम और मोबाइल नंबर के साथ एक सूची जारी की. जिससे गुजरात से बाहर फंसे लोग इन अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं.


उड़ीसा में फंसे गुजराती आईएएस एम थानेसरन के साथ-साथ आईपीएस अधिकारी नीरजा गोत्रु राव से संपर्क कर सकते हैं. बिहार और झारखंड, उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख, मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर राज्यों, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल में तमिलनाडु और केरल में फंसे गुजरातियों को वापस लाने के मकसद को लेकर नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गई है.

गुजरात में खतरनाक हुई कोरोना की रफ्तार, बीते 24 घंटे में 308 नए मामले और 16 की मौत