Gujarat Exclusive > राजनीति > कैप्टन अमरिंदर पर भड़के केजरीवाल, कहा- अब कोई राज्य नहीं रोक सकता कृषि कानून

कैप्टन अमरिंदर पर भड़के केजरीवाल, कहा- अब कोई राज्य नहीं रोक सकता कृषि कानून

0
467

कृषि कानून को लेकर विवाद गहराता जा रहा है. एक तरफ किसान जहां लगातार आंदोलन कर रहे हैं तो दूसरी तरफ राजनीतिक दल एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. इसी बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर के आरोपों पर जमकर बरसे. बुधवार को उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा.

केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह और बीजेपी आपस में मिलीभगत करके तीनों काले कानूनों को दिल्ली में लागू करने का आम आदमी पार्टी पर झूठा आरोप लगा रहे हैं. उन्होंने कहा- ऐसे बुरे वक्त में भी कैप्टन साहब राजनीति कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: यूपी में फिल्म सिटी निर्माण पर उद्धव को एतराज, योगी बोले- मुंबई से नहीं ले जा रहे बॉलीवुड नगरी

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा,

कैप्टन अमरिंदर सिंह के पास कृषि बिल को रोकने के लिए कई मौके आए. पंजाब के लोग पूछ रहे हैं कि उन्होंने तब इस बिल को क्यों नहीं रोका. केंद्र सरकार की कमेटी में कैप्टन अमरिंदर सिंह थे. कमेटी के अंदर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन काले कानूनों का विरोध क्यों नहीं किया. इनको क्यों नहीं रोका. जिस दिन राष्ट्रपति ने कृषि बिल पर हस्ताक्षर कर दिए उस दिन ये कानून बन गए. किसी राज्य सरकार के पास ये ताकत नहीं है कि इसको रोक दे.

सीएम केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि इस मुद्दे पर हमें राजनीति नहीं करनी है. ना होने देनी है. मैं केंद्र सरकार से मांग करता हूं कि केंद्र सरकार किसानों की मांग को माने और एमएसपी की गारंटी को लिखित में दे.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि स्टेडियम को जेल के तौर पर इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देने के लिए बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार मुझसे खफा है.

पंजाब के सीएम ने क्या लगाए थे आरोप

इससे पहले केजरीवाल (Arvind Kejriwal) सरकार पर निशाना साधते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि एक तरफ आम आदमी पार्टी संघर्ष कर रहे किसानों की हिमायत करने का दावा कर रही है, जबकि दूसरी तरफ केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में 23 नवंबर 2020 को नोटिफिकेशन जारी कर कृषि कानूनों को लागू कर दिया. इसी बयान के बाद केजरीवाल ने पंजाब के सीएम पर निशाना साधा है.

कृषि मंत्री ने की अपील

मालूम हो कि केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन जारी है. किसानों हजारों की संख्या में दिल्ली की सीमाओं पर डटे हैं. इस बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से अनुरोध किया है कि आंदोलन का रास्ता छोड़कर चर्चा से हल निकालें.

तोमर ने कहा, ”दिल्ली के लोग संयम का परिचय दें. उन्हें तकलीफ है, इसका एहसास सरकार को भी है. किसानों से अनुरोध है कि आंदोलन का रास्ता छोड़कर चर्चा से हल निकालें. चर्चा चल रही है. कल भी किसान नेताओं के साथ बैठक है. हमारी कोशिश है कि जल्दी समाधान हो.’

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें