Gujarat Exclusive > देश-विदेश > UP के बलरामपुर में हाथरस जैसी दरिंदगी, दलित छात्रा से गैंगरेप, पीड़िता की मौत

UP के बलरामपुर में हाथरस जैसी दरिंदगी, दलित छात्रा से गैंगरेप, पीड़िता की मौत

0
480
  • उत्तर प्रदेश में एक और दिल दहलाने वाली वारदात
  • दलित छात्रा के साथ पहले किया गैंग रेप उसके बाद कमर और पैर तोड़ दिया
  • अस्पताल ले जाने के दौरान पीड़िता की हुई मौत

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ होने वाले गैंगरेप का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि ऐसे ही एक दरिंदगी का नया मामला बलरामपुर जिले से सामने आ रहा है.

जहां एक 22 साल की दलित छात्रा के साथ पहले तो गैंगरेप किया गया उसके बाद उसकी कमर और पैर को तोड़ दिया.

पीड़िता की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई है.

बलरामपुर में हाथरस जैसी दरिंदगी

मिल रही जानकारी के अनुसार बलरामपुर के कोतवाली गैंसड़ी में रहने वाली छात्रा विक्रम कॉलेज में बीकॉम फस्ट ईयर में दाखिला कराने के लिए गई थी.

लेकिन वह घर वापस नहीं आई तो छात्रा के घर वालों ने उसे फोन किया लेकिन उनकी बात नहीं हो पाई. रात करीब 8 बजे के पास छात्रा घर पहुंची तो उसकी हालत देखकर घरवाले दंग रह गए.

छात्रा की हालत इतनी खराब थी कि वह अपने साथ होने वाली दरिंदगी को भी घर वालों से नहीं बता पा रही थी.

जिसके बाद पीड़ित के परिजन उसे इलाज के लिए प्राइवेट अस्पताल पहुंचे लेकिन उसकी हालत देखकर डॉक्टरों ने छात्रा को तुलसीपुर सीएचसी ले जाने की सलाह दी. सीएचसी ले जाते वक्त पीड़िता की रास्ते में मौत हो गई.

यह भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ की ‘ठोंको नीति’ के बावजूद उत्तर प्रदेश में बढ़ा अपराध का ग्राफ

पीड़िता की मां ने लगाया गंभीर आरोप

पीड़िता की मां ने आरोप लगाया है कि उसकी बेटी को पहले अगुवा किया गया था. उसके बाद उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया है.

पोल खुलेने की डर से आरोपियों ने पहले तो छात्रा की कमर और दोनों पैर को तोड़ दिया उसके बाद उसे जहर खिलाकर रिक्शे से घर भेज दिया.

हालांकि पुलिस फिलहाल इन आरोपों से इनकार कर रही है. पुलिस का मानना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद छात्रा की मौत के बारे में सही जानकारी सामने आएगी.

14 सितंबर को घटी थी घटना

गौरतलब है कि यूपी में हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 14 सितंबर को 19 साल की एक दलित लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म की वारदात हुई थी.

पुलिस ने कहा कि पीड़िता को घटना के बाद अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सोमवार सुबह उसकी हालत गंभीर होने के कारण इलाज के लिये उसे दिल्ली भेजा गया था.

इसके बाद इलाज के दौरान उस लड़की ने दम तोड़ दिया. इसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

वहीं यूपी के सीएम योगी ने बताया है कि इस मामले के लिए एसआईटी गठित की है और इसकी सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाएगी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

SIT तो बन गई लेकिन क्या एसपी की होगी जांच, सवालों के घेरे में योगी की पुलिसिया कार्रवाई