Gujarat Exclusive > देश-विदेश > नए साल के जश्न पर कोरोना का ग्रहण, मुंबई में धारा-144 लागू, दिल्ली में नाइट कर्फ्यू

नए साल के जश्न पर कोरोना का ग्रहण, मुंबई में धारा-144 लागू, दिल्ली में नाइट कर्फ्यू

0
290

देश में कोरोना के नए मामलों में बीते कुछ दिनों से गिरावट दर्ज की जा रही है. लेकिन देश में कोरोना के नए स्ट्रेन ने लोगों के स्ट्रेस को बढ़ा दिया है. देश में कोरोना का ग्रहण कई त्योहारों पर लग चुका है.

इस बीच जानकारी सामने आ रही है कि नए साल के जश्न से पहले दिल्ली वालों को दो रात नाइट कर्फ्यू का सामना करना पड़ेगा. वहीं मुंबई में धारा 144 लागू कर दी गई है. Ban new year celebration

राजधानी दिल्ली में नाइट कर्फ्यू का ऐलान

देश में कोरोना के नए मामलों में गिरावट तो जरूर दर्ज की जा रही है. लेकिन कोरोना का कहर अभी भी जारी है. इसलिए पहले जिस तरीके से लोग नए साल का स्वागत करते थे इसलिए साल वैसा नहीं कर पाएंगे.

सरकार ने कोरोना की वजह से कई पाबंदियों को लागू कर दिया है. इसके तहत राजधानी दिल्ली में 31 दिसंबर और 1 जनवरी को नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है. Ban new year celebration

दिल्लीवासियों को 31 दिसंबर की रात 11 बजे से 1 जनवरी की सुबह 6 बजे तक, अगले दिन यानी 1 जनवरी की रात 11 बजे से 2 जनवरी की सुबह 6 बजे तक ये पाबंदियों का सामना करना पड़ेगा.

मुंबई में धारा 144 लागू  Ban new year celebration

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में भी नए साल के जश्न पर पाबंदी लगाने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है. नए साल की वजह से पुलिस जगह-जगह पर नाकाबंदी कर गाड़ियों की चेकिंग कर रही है.

इतना ही नहीं नए साल को लेकर पुलिस ने विशेष दिशा-निर्देश भी जारी किया है जिसके तहत सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ जमा नहीं हो सकती. एक गाड़ी में चार से ज्यादा लोग सफर नहीं कर सकते.

रात 11 से 6 बजे के तक होटल पब बार सब बंद रखे जाएंगे. नए साल की स्वागत के लिए पटाखे नहीं फोड़े जाएंगे.

देश में कोरोना की स्थिति Ban new year celebration

स्वास्थ्य विभाग की ओर से आज सुबह जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटों में 21,822 कोरोना के नए मामले दर्ज किए गए. Ban new year celebration

जिसके बाद देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1 करोड़ दो लाख 66 हजार हो गई. देश में अब तक एक लाख 48 हजार 738 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है.

लेकिन राहत की बात यह सामने आ रही है कि देश में लगातार 11वें दिन 25 हजार से कम नए मामले दर्ज किए गए हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

उद्योगपतियों का अरबों रुपया कर्ज माफ, मोदी जी के विकास की यह है असलियत: राहुल गांधी