Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ‘मैंने और मेरे कई साथियों ने बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए किया था सत्याग्रह’

‘मैंने और मेरे कई साथियों ने बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए किया था सत्याग्रह’

0
237

Bangladesh Independence Day: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांग्लादेश के अपने दो दिवसीय दौरे पर आज ढाका पहुंचे. पीएम मोदी बांग्लादेश की स्वतंत्रता के स्वर्ण जयंती समारोह में शामिल हुए. ढाका के नेशनल परेड स्कवॉयर में आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कि बांग्लादेश की आजादी के लिए संघर्ष में शामिल होना, मेरे जीवन के भी पहले आंदोलनों में से एक था. उन्होंने कहा कि उस लड़ाई में मैंने भी गिरफ्तारी दी थी. Bangladesh Independence Day

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये एक सुखद संयोग है कि बांग्लादेश के आजादी के 50 वर्ष और भारत की आजादी के 75 वर्ष का पड़ाव, एक साथ ही आया है. हम दोनों ही देशों के लिए, 21वीं सदी में अगले 25 वर्षों की यात्रा बहुत ही महत्वपूर्ण है. Bangladesh Independence Day

यह भी पढ़ें: बिहार बोर्ड ने जारी किए 12वीं के रिजल्‍ट, लड़कियों ने मारी बाजी

प्रधानमंत्री ने बांग्लादेश के 50वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कहा कि उनके लिए यह जीवन का अनमोल पल है. उन्होंने कहा कि मैं सभी भारतीयों की तरफ से आप सभी बांग्लादेश के नागरिकों को हार्दिक बधाई देता हूं. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश की आजादी के इतिहास को याद करते हुए कहा कि बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई को इंदिरा गांधी का योगदान सर्वविदित है. Bangladesh Independence Day

बांग्लादेश की आजादी के लिए संघर्ष में शामिल होना, मेरे जीवन के भी पहले आंदोलनों में से एक था. मेरी उम्र 20-22 साल रही होगी जब मैंने और मेरे कई साथियों ने बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए सत्याग्रह किया था. उन्होंने कहा कि कोई भी ताकत बांग्लादेश को गुलाम नहीं रख सकती है. Bangladesh Independence Day

जवानों को किया सलाम

पीएम मोदी ने कहा कि आज मैं उन बहादुर भारतीय जवानों को सलाम करता हूं जिन्होंने ‘मुक्तियुद्धो’ में बांग्लादेश के भाई और बहनों के साथ खड़े हुए थे. मुझे इस बात की खुशी है कि कई भारतीय सैनिक जो उस वक्त बांग्लादेश के विभाजन में शामिल थे वे आज इस मौके पर मौजूद हैं. Bangladesh Independence Day

उन्होंने कहा कि शेख मुजीबुर रहामान ने अपना जाना न्योछावर किया. पीएम मोदी ने कहा कि बांग्लादेश के 50 उद्यमियों को बांग्लादेश की आजादी की 50वीं  वर्षगांठ पर भारत आने का न्यौता देता हूं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें