Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना के नाम पर दिन-दहाड़े बैंक डकैती! आरोपी ने बनाया बीमारी को हथियार

कोरोना के नाम पर दिन-दहाड़े बैंक डकैती! आरोपी ने बनाया बीमारी को हथियार

0
233

दुनिया में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच कुछ अबीजो-गरीब मामले सामने आ रहे हैं. इसी बीच अमेरिका में एक हैरान कर देने वाली घटना का पता चला है जहां एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति ने बैंक (Bank) लूटने के लिए कोरोना महामारी को अपना हथियार बनाया है. दरअसल अमेरिका में कोविड-19 के नाम पर बैंक (Bank) लूट का हैरतअंगेज मामला सामने आया है.

जॉर्जिया में एक व्यक्ति को बैंक (Bank) डकैती के मामले में गिरफ्तार किया गया है जो बिना किसी हथियार के दिन-दहाड़े बैंक में डकैती करने आया था. हालांकि पुलिस ने बैंक लूट की कोशिश के आरोप में जॉर्जिया निवासी शख्स को गिरफ्तार कर लिया.

यह भी पढ़ें: बंगाल: 3 आईपीएस अधिकारियों का ट्रांसफर, केंद्र की कार्रवाई पर भड़कीं ममता बनर्जी

28 नवंबर की है घटना

जॉर्जिया पुलिस की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, घटना 28 नवंबर की है. जॉर्जिया प्रांत के रिवरेल में 51 वर्षीय विक्टर हार्डले बैंक (Bank) पहुंचा और उसने धमकी दी कि अगर कैशियर ने रकम उसके हवाले नहीं की तो सभी को कोरोना वायरस से संक्रित कर देगा. पुलिस ने बताया कि उसके पास कोई हथियार नहीं था.

आरोपी ने हथियार निकालने के बजाए खुद के कोरोना वायरस से संक्रमित होने का दावा किया. उसने बताया कि कोरोना की जांच में उसे पॉजिटिव पाया गया है और अगर बैंक (Bank) ने उसकी मांग को नहीं माना, तो ब्रांच के हर शख्स को बीमारी से संक्रमित करना शुरू देगा. बयान में बताया गया कि जब बैंक ने पुलिस को बुलायाया तो संदिग्ध बैंक से पैसे लिए बगैर मौके से भाग निकला.

आर्थिक तंगी के कारण मजबूर

पुलिस के एक घंटे की सघन जांच के बाद संदिग्ध की पहचान 51 वर्षीय शख्स के रूप में हो गई. पुलिस ने उसके घर से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तारी के बाद विक्टर ने बताया कि उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी और उसे दो हजार डॉलर का बिल अदा करना था. इसलिए उसने यह योजना बनाई थी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें