Gujarat Exclusive > देश-विदेश > श्रीराम के रंग में रंगा अमेरिका, वॉशिंगटन में लहराया भगवा झंडा

श्रीराम के रंग में रंगा अमेरिका, वॉशिंगटन में लहराया भगवा झंडा

0
831

राम मंदिर के भूमि पूजन को लेकर देश के साथ-साथ दुनियाभर में मौजूद भारतीयों के बीच उत्साह का माहौल है. पीएम मोदी द्वारा अयोध्या में भूमि पूजन से पहले अमेरिका भी श्रीराम के रंग में रंगा नजर आ रहा है.

भूमि पूजन को लेकर भारतीय-अमेरिकी समुदाय ने जोरदार तैयारी की हैं.

भारतीय-एमेरिकी लोगों ने वॉशिंगटन डीसी में ऐसे खुशी जाहिर की.
साथ ही भगवा झंडा लहराया और जय श्री राम के नारे भी लगाए.

यह भी पढ़ें: भूमि पूजन से पहले जगमगाई अयोध्या नगरी, सीएम ने जलाए दीप

अयोध्या में भूमि पूजन कार्यक्रम को लेकर भारतीय मूल के लोगों में जबरदस्त जोश है.

भारतीय समुदाय के लोगों का कहना है कि वे दीप भी जलाएंगे.

निकलेगी एलईडी डिस्प्ले वाली झांकी

वाशिंगटन डीसी और उसके आसपास एलईडी डिस्प्ले वाली झांकी कैपिटल हिल एवं व्हाइट हाउस के आसपास जाएगी.

हिदू मंदिर एग्जीक्यूटिव्स कांफ्रेंस और हिदू मंदिर प्राइस्ट्स कांफ्रेंस ने तो पूरे अमेरिका में सामूहिक प्रार्थना करने की अपील की है.

न्यूयॉर्क में भी हिदू समुदाय ने जश्न की तैयारी की है.

टाइम्स स्क्वायर में नहीं दिखेगी झांकी

हालांकि इस दिन प्रतिष्ठित टाइम्स स्क्वायर की विशाल होर्डिंग्स पर भगवान राम की तस्वीरें और राम मंदिर की थ्री-डी छवियां नहीं दिखाई जाएंगी. पहले खबरें थीं कि इस दौरान थ्री डी छवियां दिखाई जाएंगी.

इन्हें दुनिया की सबसे बड़ी डिस्प्ले स्क्रीन में शुमार किया जाता है.

मुस्लिम संगठनों ने रोका

मुस्लिम संगठनों की आपत्ति पर निजी कंपनी ब्रांडेड सिटीज ने इसे रोक दिया है.

खबरों के मुताबिक टाइम्स स्क्वायर पर नैस्डेक बिल्डिंग के बाहर बड़े डिस्प्ले बोर्ड पर और इसके अलावा करीब 17,000 वर्ग फुट के डिजिटल एलईडी स्क्रीन्स में ऐसी सामग्री प्रसारित की जाती. अपनी भावनाओं के इजहार के लिए हिंदू संगठनों ने ये विशाल स्क्रीन लीज पर लिए थे.

हालांकि पांच अगस्त को न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वॉयर में राम टेंपल ग्राउंडब्रेकिंग सेलिब्रेशंस होने जा रहा है.

ये समारोह बुधवार शाम 7.30 बजे यहां शुरू होगा.
राम जन्मभूमि शिलान्यास सेलिब्रेशन कमेटी (अमेरिका) के प्रमुख जगदीश सेवहानी के मुताबिक, पांच अगस्त की शाम को यहां दीप प्रज्जवलन कार्यक्रम है और भजन संध्या का आयोजन किया जा रहा है.

इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में भारतीय-अमेरिकी शामिल होंगे.
इन सबके लिए खर्च अमेरिकी हिंदू समुदाय से चंदा लेकर किया जा रहा है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें