Gujarat Exclusive > राजनीति > बिहार विधानसभा चुनावों का ऐलान, तीन चरणों में वोटिंग, 10 नवंबर को नतीजा

बिहार विधानसभा चुनावों का ऐलान, तीन चरणों में वोटिंग, 10 नवंबर को नतीजा

0
485
  • बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान
  • तीन चरण में आयोजित होगा चुनाव
  • 10 नवंबर को होगी वोटों की गिनती
  • आज से आदर्श आचार संहिता लागू

देश में कोरोना के बढ़ते आंतक के बीच चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है. पहले चरण का मदताद 28 अक्टूबर को होगा.

दूसरे चरण की वोटिंग 3 नवंबर जबकि तीसरे और आखिरी चरण का मतदान 7 नवंबर को होगा. वोटों की गिनती 10 नवंबर को की जाएगी.

बिहार विधानसभा चुनावों का ऐलान

कोरोना संकट की वजह से इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव का समय बढ़ा दिया गया है. मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. पहले चरण में 16 जिलों के 71 सीटों पर चुनाव आयोजित होगा.

जबकि दूसरे चरण में 17 जिलों के 94 सीटों पर वोटिंग और तीसरे चरण में 15 जिलों के 78 सीटों पर मतदान का आयोजन किया गया है.

यह भी पढ़ें: भाजपा का कृषि बिल ईस्ट इंडिया कम्पनी राज की याद दिलाता है: प्रियंका गांधी

कोरोना पीड़ित भी कर सकेंगे अपने वोट का इस्तेमाल

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान करते हुए कहा कि कोरोना संकटकाल में होने वाले चुनाव में कोरोना से संक्रमित वोटर भी अपने मत का इस्तेमाल कर सकेंगे.

वोटिंग के आखिरी दिन अपने संबंधित मतदान केंद्रों पर स्वास्थ्यकर्मियों की देखरेख में वोट डाल सकेंगे.

इन नियमों का करना होगा पालन

  • कोरोना संकट की वजह से इस साल एक मतदान केंद्र पर सिर्फ एक हजार लोग ही मतदान कर पाएंगे. इतना ही नहीं केंद्रों पर सैनेटाइज के साथ ही साथ कोरोना के नियमों का पालन करना होगा.
  • मतदान का वक्त एक घंटा बढ़ा दिया गया है. अब सुबह 7 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक मतदान किया जाएगा
  • कोरोना पीड़ित अपने वोट का इस्तेमाल मतदान के आखिरी दिन कर सकेंगे.
  • उम्मीदवारों को नामांकन के लिए 2 से ज्यादा गाड़ियों का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे
  • चुनावी प्रचार के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करना होगा
  • पर्चा भरने के लिए उम्मीदवार के साथ सिर्फ दो लोग जा सकते हैं

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना काल में देश का ही नहीं, बल्कि दुनिया का यह पहला बड़ा चुनाव होने जा रहा है.

बिहार में 243 विधानसभा सीटें हैं. इनमें से 38 सीटें अनुसूचित जाति के लिए और 2 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए रिजर्व हैं. पिछले चुनाव में राज्य में 6.68 करोड़ वोटर थे.

इनमें 56 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कृषि बिल का विरोध करने वालों पर बरसे पीएम मोदी, गुमराह करने का लगाया आरोप