Gujarat Exclusive > राजनीति > बिहार चुनाव: भाजपा को चुनौती देने के लिए ओवैसी-कुशवाहा ने बनाया नया फ्रंट

बिहार चुनाव: भाजपा को चुनौती देने के लिए ओवैसी-कुशवाहा ने बनाया नया फ्रंट

0
318

बिहार विधान सभा के चुनावों (Bihar Election) को लेकर सरगर्मियां तेज हो चली हैं. प्रमुख राजनीतिक दल अपने उम्मीदवारों का ऐलान करने में जुटे हुए हैं जबकि कुछ नए फ्रंट भी चुनौती पेश करने के लिए तैयार हैं. अभी एनडीए, महागठबंधन के टुटते जुड़ते रिश्तों की आग ठंडी भी नही हुई थी कि बिहार चुनाव (Bihar Election) से पहले उपेन्द्र कुशवाहा के नेतृत्व में एक नए गठबंधन ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्यूलर फ्रंट का गठन किया गया है. इस गठबंधन में असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम भी शामिल है.

ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्यूलर फ्रंट में कुशवाहा की आरएलएसपी और औवैसी की एआईएमआईएम के अलावा मायावती की बीएसपी के अलावा समाजवादी जनता दल,डेमोक्रेटिक जनतांत्रिक पार्टी सोशियलिस्ट और सूहेलदव भारतीय समाज पार्टी भी शामिल है.

यह भी पढ़ें: टीआरपी में हेरफेर: मुंबई पुलिस का बड़ा दावा- Republic TV पैसे देकर खरीदती थी TRP!

बिहार विधान सभा चुनाव (Bihar Election) में यह फ्रंट 243 सीटों पर चुनाव लड़ेगा. इस गठबंधन में मुख्यमंत्री पद के दावेदार उपेन्द्र कुशवाहा को बनाया गया है. ज्वाइंट प्रेस कांफ्रेंस के दौरान दलों के वरिष्ठ नेताओं ने जीत की भी दावेदारी ठोकी.

देवेंद्र यादव होंगे संयोजक

उपेंद्र कुशवाहा ने जानकारी दी कि इस फ्रंट के संयोजक देवेंद्र यादव रहेंगे. इस फ्रंट का नाम ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेकुलर फ्रंट रखा गया है, जिसमें कुल 6 पार्टियां शामिल हैं. इस दौरान कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार जी आपने वायदा किया था बिहार को आगे बढ़ायेंगे. राजद के 15 साल के बदले आपने 5 साल मांगा आपको 15 साल मिल गया है. बिहार लगातार पीछे जा रहा है, बिहार का कुछ नही हुआ, रोज़गार नाम की चीज़ नहीं है.

औवैसी ने जाहिर की खुशी

बिहार चुनाव (Bihar Election) को लेकर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हमें खुशी है कि हम बिहार के लोगों को विकल्प दे पाए हैं और हमारे साथ नई पार्टियां आई हैं. नीतीश सरकार के राज में 15 साल बिहार की जनता से धोखा किया गया है, ऐसे में अब नए विकल्प की जरूरत है. ओवैसी ने कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा हमारे गठबंधन के मुख्यमंत्री का चेहरा हैं. और बिहार की जनता से अपील की वो हमें अपना आशीर्वाद दें. और इस एलायंस को जिताएं. उपेन्द्र जी,बी एस पी सभी का शुक्रिया की हमलोग एक गठबंधन बना सकें. ये विकल्प है और बिहार की जनता के हक में है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें