Gujarat Exclusive > देश-विदेश > बर्ड फ्लू का आतंक: केरल ने घोषित किया राजकीय आपदा, गुजरात में भी दहशत

बर्ड फ्लू का आतंक: केरल ने घोषित किया राजकीय आपदा, गुजरात में भी दहशत

0
575

भारत अभी कोरोना महामारी के खतरे से उबरा भी नहीं है कि देश में बर्ड फ्लू (Bird Flu) से दहशत फैल गई है. देश के कई राज्यों में बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट जारी किया गया है. राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, हिमाचल प्रदेश और केरल में हजारों पक्षियों की मौत ने चिंता बढ़ा दी है. केरल ने इसे (Bird Flu) राजकीय आपदा घोषित कर दिया है. कुछ जगहों पर मारे गए पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है.

केरल के कोट्टायम और अलप्पुझा जिलों के कुछ हिस्सों में बर्ड फ्लू (Bird Flu) फैलने की जानकारी सामने आई है, जिसके चलते प्रशासन ने प्रभावित क्षेत्रों में और उसके आसपास एक किलोमीटर के दायरे में बत्तख, मुर्गियों और अन्य घरेलू पक्षियों को मारने का आदेश दिया है.

यह भी पढ़ें: अरबाज और सोहेल खान होटल में किए गए क्वारंटाइन, केस दर्ज होने के बाद कार्रवाई

वहीं मध्य प्रदेश में 23 दिसंबर से 3 जनवरी तक 376 कौओं की मौत हो चुकी है. इनमें से सबसे ज्यादा 142 मौतें इंदौर में हुई हैं. इसके अलावा मंदसौर में 100, आगर-मालवा में 112, खरगोन जिले में 13, सीहोर में 9 कौओं की मौत हुई है.

झालावाड़ में धारा 144

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा के पॉन्ग डैम की झील में हजारों की संख्या में मारे गए प्रवासी पक्षियों की रिपोर्ट पॉजिटिव (Bird Flu) आई है. हरियाणा के बरवाला क्षेत्र में रहस्यमय तरीके से मर रहीं मुर्गियों की वजह से इलाके में एवियन फ्लू का भय है. यहां करीब एक लाख मुर्गी और चूजों की मौत हो चुकी है. मुर्गियों के रहस्यमय तरीके से मरने का सिलसिला 5 दिसंबर से शुरू हुआ था. वहीं राजस्थान के झालावाड़ में धारा 144 लागू कर दी गई है. झालावाड़ में 250 कौवों की मौत के बाद वहां बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है.

गुजरात में भी दहशत

गुजरात के जूनागढ़ में भी बर्ड फ्लू (Bird Flu) का खतरा मंडराता दिखाई दे रहा है. यहां मानावदर तहसील के बाटवा के नजदीक एक साथ 53 पक्षी मृत हालत में मिलने से हड़कंप मच गया है. पक्षियों के मृत हालत में पाए जाने की जानकारी जैसे ही वन विभाग को दी गई वन विभाग की टीम भी घटनास्थल पर पहुंची और इतनी बड़ी तादाद में पक्षियों के मृत हालत में पाए जाने को लेकर सभी पक्षियों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें