Gujarat Exclusive > देश-विदेश > किसान आंदोलन: BJP के झूठ का पर्दाफाश, सुखी पोस्टर बॉय किसान कर रहा प्रदर्शन

किसान आंदोलन: BJP के झूठ का पर्दाफाश, सुखी पोस्टर बॉय किसान कर रहा प्रदर्शन

0
212

पंजाब का एक किसान हरप्रीत सिंह सिंधु सीमा पर किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल हैं. लेकिन भाजपा पंजाब के किसानों को जागरुक करने के लिए एक विज्ञापन में हरप्रीत की एक तस्वीर का इस्तेमाल किया है.

जिसे खुशी किसान बताया गया है. मामला सामने आने के बाद हरप्रीत ने आरोप लगाया कि भाजपा ने इसके फोटो का अवैध रूप से इस्तेमाल किया है. BJP fake advertisement

भाजपा ने विज्ञापन में आंदोलन कर रहे किसान को बताया सुखी किसान  BJP fake advertisement

हरप्रीत पंजाब के होशियारपुर का रहने वाला है. पेशे से वह एक किसान भी है और अभिनेता भी. उनका कहना है कि यह तस्वीर 6-7 साल पहले सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई थी. BJP fake advertisement

एक मित्र ने कल उसे व्हाट्सएप के माध्यम से बताया कि उसकी तस्वीर का उपयोग भाजपा विज्ञापन में कर रही है. जबकि फोटो का उपयोग करने की मेरी अनुमति नहीं मांगी गई थी.

अब लोग मुझे फोन कर बीजेपी का पोस्टर बॉय कह रहे हैं. हरप्रीत का कहना है कि वह भाजपा का नहीं बल्कि किसानों का पोस्टर बॉय है.

भाजपा कानूनी नोटिस भेजने की तैयारी  BJP fake advertisement

लगभग 35 वर्षीय हरप्रीत का कहना है कि वह पिछले दो हफ्तों से सिंधु सीमा पर किसानों के साथ विरोध प्रदर्शन में बैठा है. लेकिन भाजपा ने अपने झूठे विज्ञापन के लिए मेरे तस्वीर का इस्तेमाल किया है.

इसीलिए मैने भाजपा को कानूनी नोटिस भेजने का फैसला किया है.

इस विज्ञापन में पार्टी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उठ रहे संदेह को दूर करने की कोशिश कर रही है. विज्ञापन को भाजपा की पंजाब इकाई ने सोमवार को अपने फेसबुक पेज पर साझा किया.

विज्ञापन के एक कोने में एक पंजाबी किसान को खुश दिखाया गया है. BJP fake advertisement

सरकार आंदोलन को बदनाम करना चाहती है

हरप्रीत सिंह ने कहा कि सरकार आंदोलनकारी किसानों को आतंकवादी और खालिस्तानियों के रूप में बदनाम करना चाहती थी. BJP fake advertisement

लेकिन इसमें सरकार को कामयाबी नहीं मिली इसलिए अब पंजाब के सभी किसानों को ‘खुशहाल किसान’ बताने की कोशिश की जा रही है.

इस विज्ञापन में सरकार यह दिखाना चाहती थी कि पंजाब के सभी किसान खुश हैं, और यहां बैठे लोग (आंदोलनकारी) किसान नहीं हैं. सभी आंदोलनकारियों को बिचौलियों और दलाल बताने की कोशिश की जा रही है.

हरप्रीत सिंह ने भाजपा के इस विज्ञापन को एक चाल करार दिया और कहा कि एक खुश सिख किसान की फोटो दिखाकर वह दुनिया को दिखाना चाहते हैं कि पंजाब के किसान खुशी और खुश हैं.

पंजाब के किसान बहुत खुश हैं और आंदोलन कर रहे लोग किसान नहीं बल्कि कोई और हैं. BJP fake advertisement

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

किसान दिवस पर किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का किया ऐलान