Gujarat Exclusive > राजनीति > मध्य प्रदेश में बीजेपी को लगा झटका, पार्षद ने CAA का विरोध कर दिया इस्तीफा, सांप्रदायिक राजनीति का आरोप

मध्य प्रदेश में बीजेपी को लगा झटका, पार्षद ने CAA का विरोध कर दिया इस्तीफा, सांप्रदायिक राजनीति का आरोप

0
294

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जहां पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हो रहा है. वहीं कई बीजेपी के नेता भी इस कानून का विरोध कर चुके हैं. इतना ही नहीं कई नेता तो पार्टी से इस्तीफा भी दे चुके हैं. इसी कड़ी नया नाम जुड़ा है. मध्य प्रदेश के बीजेपी पार्षद उस्मान पटेल का जिन्होंने पार्टी से नाराज होकर सभी पदों से इस्तीफा दिया. उन्होंने कहा कि बीजेपी वास्तविक मुद्दों से दूर हो गई है. वह केवल सांप्रदायिक राजनीति कर रही है. जीडीपी गिर कर रही है, मुद्रास्फीति बढ़ रही है लेकिन पार्टी ऐसे कानून ला रही है जो सभी धर्मों के लोगों के बीच दरार पैदा करते हैं.

गौरतलब हो कि नागरिकता संशोधन अधिनियम और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के मुद्दे पर देश का अल्पसंख्यक समुदाय बीजेपी से खासा नाराज चल रहा है. नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में होने वाला आंदोलनों अब एक केंद्र बन चुका है, वहीं लखनऊ का घंटाघर, मुंबई का इंडिया गेट समेत कई अन्य जगहों पर भी विरोध प्रदर्शन की खबरें सामने आ रही हैं. वहीं भारतीय जनता पार्टी युद्धस्तर पर लोगों में नागिरकता कानून पर जागरूकता फैलने का काम कर रही है. बावजूद इसके पार्टी को इस मुहिम में कामयाबी मिलते हुए नजर नहीं आ रहा.

 

बीजेपी अल्पसंख्यकों को इस कानून पर जागरूक करने के लिए प्रदेश स्तर पर भी अभियान चला रही है. लेकिन पार्टी से अब नाराज होकर बीजेपी के साथ जुड़े लोग अब पार्टी के साथ नाता तोड़ते हुए नजर आ रहे हैं. ये पहला मामला नहीं है जब किसी बीजेपी के नेता ने इस कानून को वजह बताकर पार्टी का साथ छोड़ दिया हो.