Gujarat Exclusive > राजनीति > BJP को अपने ही विधायकों का नहीं मिल रहा साथ, CAA के खिलाफ बोले नारायण त्रिपाठी, फाड़ कर फेंक देना चाहिए संविधान

BJP को अपने ही विधायकों का नहीं मिल रहा साथ, CAA के खिलाफ बोले नारायण त्रिपाठी, फाड़ कर फेंक देना चाहिए संविधान

0
271

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर आज एक बार से अलग-अलग संस्था से जुड़े लोगों ने भारत बंद का ऐलान किया है. पिछले एक महीने से ज्यादा वक्त से पूरे देश में इस कानून को लेकर विरोध हो रहा है. बावजूद इसके बीजेपी टस से मस नहीं हो रही. ऐसे में पिछले दिनों गृह मंत्री अमित शाह ने लखनऊ में एक रैली को संबोधित करते हुए हुंकार भरते हुए कहा था कि विपक्ष को जितना विरोध करना हो करें हम किसी कीमत पर इस कानून को वापस नहीं लेंगे.

लेकिन अब विपक्ष के साथ ही साथ बीजेपी को अपने विधायकों के बागी सुर का सामना करना पड़ रहा है. मध्य प्रदेश के मैहर से बीजेपी विधायक ने अपनी पार्टी के खिलाफ बगावती सुर उठाते हुए सीएए का विराध किया है.उन्होंने कहा कि देश में बेरोजगारी पर बात करने की जरूरत है. सीएए से माहौल खराब हो रहा है, देश में गृहयुद्ध जैसे हालात बन गए हैं. जब प्रदेश में बीजेपी के शीर्ष नेता सीएए के समर्थन में जागरूकता रैली निकाल रहे हैं, ऐसे में बीजेपी विधायक का सीएए के विरोध में खुलकर बोलना पार्टी के लिए मुश्किलें खड़ा करने वाला है

विधायक त्रिपाठी ने कहा, “मैं अपनी अंतर्रात्मा से सीएए का विरोध कर रहा हूं. इससे भाईचारा खत्म हो रहा है. लोग एक-दूसरे को संदेह से देख रहे हैं. हम पार्टी फोरम पर अपनी बात रखेंगे.” उन्होंने कहा कि ये मेरी निजी राय है. सीएए वोट की राजनीति के लिए सही है, लेकिन देश के लिए नहीं.

गांवों में जिनके आधार कार्ड नहीं बने वे नागरिकता के लिए कागजात कहां से लेकर आएंगे

सीएए कानून का कड़ा विरोध करते हुए उन्होंने कहा कि मैं एक छोटे से गांव से आता हूं और गांव में आज भी आधार कार्ड नहीं बन रहे तो ऐसे लोग अपनी नागरिकता साबित करने के लिए बाकी कागज कहां से लाएंगे. उन्होंने कहा कि सीएए कानून के कारण गांव में गृहक्लेश जैसी स्थिति निर्मित हो गई है. आज गांव में लोग एक-दूसरे की तरफ देख भी नही रहे हैं.

धर्म के आधार पर देश का बंटवारा सरासर गलत

भाजपा विधायक ने कहा कि भारतीय संस्कृति में वसुधैव कुटुम्बकम की बात होती है लेकिन धर्म के नाम बंटवारा किया जा रहा है, ये बिल्कुल गलत है. पार्टी लाइन से हटकर बयान देने पर उन्होंने कहा कि ये मेरा व्यक्ति बयान है, इससे पार्टी का कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा ये मेरे दिल की आवाज है.