Gujarat Exclusive > राजनीति > विधानसभा में गहलोत सरकार के खिलाफ भाजपा लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

विधानसभा में गहलोत सरकार के खिलाफ भाजपा लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

0
445

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आरएलपी के 75 विधायक शुक्रवार से शुरू हो रहे राजस्थान विधानसभा सत्र में अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगे. भाजपा कार्यालय में गुरुवार को हुई विधायक दल की बैठक में यह फैसला किया गया है.

जानकारी के अनुसार विधायक दल की बैठक में विधायकों के हस्ताक्षर कराए गए हैं ताकि कल ही विधानसभा मे भाजपा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ला सकें. उधर विधानसभा सत्र के लिए रणनीति बनाने के लिए वसुंधरा राजे और अन्‍य शीर्ष बीजेपी नेताओं ने आज बैठक की. जुलाई माह में अशोक गहलोत सरकार पर मंडराए संकट के बादल के चलते बीजेपी अपने लिए लाभ की स्थिति देख रही थी.
लेकिन राहुल गांधी की बागी तेवर अपनाए सचिन पायलट के साथ बैठक के बाद कांग्रेस ने संकट को टाल दिया है.

यह भी पढ़ें: माता वैष्णो देवी भवन के 12 पुजारी कोरोना संक्रमित, 16 अगस्त से होनी है यात्रा

मालूम हो कि पायलट के भाजपा में शामिल होने की खबरें सामने आ रही थीं.
हालांकि उन्होंने इसे सिरे से खारिज किया था.

टलता दिख रहा कांग्रेस का संकट

गौरतलब है कि सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के बागी तेवरों के कारण राजस्‍थान में सियासी संकट पैदा हो गया था.
लेकिन इसी हफ्ते राहुल गांधी की पायलट के साथ हुई बैठक के बाद संकट टल गया था.
कांग्रेस खेमे ने राहत की सांस ली थी.
पायलट के खिलाफ काफी तल्‍ख कमेंट करने वाले सीएम गहलोत ने अब अपने तेवर नरम कर लिए हैं.

गहलोत से मिलने पहुंचे पायलट

कांग्रेस में बागी तेवर दिखा चुके सचिन पायलट फिर से पार्टी के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं.
इस बीच अब सचिन पायलट ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ मुलाकात की.
पायलट और उनके समर्थक विधायक सीएम  गहलोत से आवास पर मुलाकात करने पहुंचे.

अशोक गहलोत और पायलट की बातचीत कराने के लिए कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल भी मुख्यमंत्री निवास पहुंच गए हैं.
मुख्यमंत्री ने पायलट समेत उनके सभी समर्थक विधायकों को फोन कर खुद बुलाया है.
विधायक दल की बैठक से आधा घंटा पहले ही पायलट गहलोत से मिलने पहुंचे हैं.

पिछले कुछ महीनों से राजस्थान की राजनीति में उठा-पठक दिख रहा है.
फिलहाल राहुल गांधी के हस्तक्षेप के बाद हालात ठीक होते दिख रहे हैं.
हालांकि अविश्ववास प्रस्ताव से पहले भी अटकलों का बाजार गर्म है.

कांग्रेस ने रद्द किया निलंबन

कांग्रेस ने गहलोत सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले विधायक विश्वेंद्र सिंह और भंवर लाल शर्मा का निलंबन गुरुवार को रद्द कर दिया.
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्वीट कर यह जानकारी दी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें