Gujarat Exclusive > यूथ > पूछताछ के लिए NCB दफ्तर पहुंची सिमोन खंबाटा, रकुलप्रीत का दावा- नहीं मिला समन

पूछताछ के लिए NCB दफ्तर पहुंची सिमोन खंबाटा, रकुलप्रीत का दावा- नहीं मिला समन

0
162
  • एनसीबी का फिल्मी सितारों पर कसता जा रहा है शिकंजा
  • फैशन डिजायनर सिमोन पहुंची एनसीबी की दफ्तर
  • ड्रग्स मामले में नाम सामने आने के बाद एनसीबी कर रही है पूछताछ
  • मामले में शामिल कई अभिनेत्रियों को एनसीबी ने जारी किया है समन

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ती जा रही है, वैसे-वैसे बड़े-बड़े नाम इसमें शामिल होते जा रहे हैं.

रिया चक्रवर्ती से एनसीबी की पूछताछ में बॉलीवुड की जानीमानी एक्‍ट्रेस का नाम सामने आया था.

इसी कड़ी में आज एनसीबी ने फैशन डिजायनर सिमोन खंबाटा को पूछताछ के लिए बुलाया है.

पूछताछ के लिए NCB दफ्तर पहुंची सिमोन खंबाटा

फैशन डिजायनर सिमोन खंबाटा पूछताछ के लिए एनसीबी दफ्तर पहुंच गई है. वहां उनसे पूछताछ की जा रही है. वहीं इस मामले में शामिल अभिनेत्री रकुलप्रीत सिंह का कहना है कि उन्हें अभी तक एनसीबी की ओर से समन नहीं मिला है.

ऐसे में माना जा रहा है कि एनसीबी आज उनसे पूछताछ नहीं करेगी.

यह भी पढ़ें: ड्रग्स केस में दीपिका, सारा, श्रद्धा और रकुल को NCB का समन, अगले 3 दिनों में सबकी पेशी

अभिनेत्री रकुलप्रीत का दावा- नहीं मिला समन

लेकिन एनसीबी के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रकुलप्रीत से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है लेकिन वह जवाब नहीं दे रही.

बुधवार को सामने आया था कि एनसीबी ने रकुल को समन भेज दिया है. लेकिन अब जानकारी सामने आ रही है कि रकुल की तरफ से कोई रिस्पॉन्स एनसीबी की टीम को नहीं दिया जा रहा है.

रिया ने किए थे खुलासे

मालूम हो कि एनसीबी ने सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को 9 सितंबर को गिरफ्तार किया था. रिया पर आरोप है कि वह अपने बॉयफ्रेंड सुशांत के लिए ड्रग्‍स का इंतजाम करती थी.

सुशांत मामले में बड़े ड्रग्स कनेक्शन की खुलासा करने वाली नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने रिया चक्रवर्ती से पूछताछ में कई अहम राज उगलवाए हैं.

खबर है कि रिया चक्रवर्ती ने NCB के सामने दिए अपने बयान में बड़ा खुलासा किया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बीते 24 घंटों में कोरोना के 86 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज, 87 हजार लोगों ने दी मात