Gujarat Exclusive > राजनीति > कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह का निधन, दलितों के लिए थे मसीहा

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह का निधन, दलितों के लिए थे मसीहा

0
283

कोरोना महामारी के बीच कई केंद्रीय मंत्री दुनिया छोड़ चुके हैं. इसी बीच खबर है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री सरदार बूटा सिंह (Buta Singh) का निधन हो गया है. आज सुबह उनका (Buta Singh) 86 साल की उम्र में निधन हो गया.

बूटा सिंह (Buta Singh) काफी समय के बीमारी चल रहे थे. बूटा सिंह (Buta Singh) 8 बार लोकसभा के सांसद चुने जा चुके हैं. साल 2004 से 2006 तक बूटा सिंह बिहार के राज्यपाल रहे थे. 2007 से 2010 तक मनमोहन सिंह की सरकार के दौरान राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रहे थे.

यह भी पढ़ें: भारत में कोरोना के 19 हजार नए मामले मिले, 24 घंटे में 224 लोगों की मौत

गांधी-नेहरू परिवार के थे करीबी

नेहरू-गांधी परिवार के विश्वासपात्र रहे सरदार बूटा सिंह (Buta Singh) ने भारत सरकार में केंद्रीय गृह मंत्री, कृषि मंत्री, रेल मंत्री, खेल मंत्री और अन्य कार्यभार के अलावा बिहार के राज्यपाल और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष के रूप में महत्वपूर्ण विभागों का कार्य संभाला. वह दलितों के महीसा माने जाते थे.

21 मार्च, 1934 को पंजाब के जालंधर जिले के मुस्तफापुर गांव में जन्मे सरदार बूटा सिंह 8 बार लोकसभा के लिए चुने गए. 1977 में ‘जनता लहर’ के चलते कांग्रेस पार्टी बुरी तरह से हार गई थी और इस कारण पार्टी विभाजित हो गई थी. इसके बाद सरदार बूटा सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी के एकमात्र राष्ट्रीय महासचिव के रूप में कड़ी मेहनत के बाद पार्टी को 1980 में फिर से सत्ता में लाने के लिए उन्होंने अमूल्य योगदान दिया था.

कई कांग्रेस नेता सिधारे स्वर्ग

कांग्रेस के कई नेताओं कोरोना महामारी के दौरान दुनिया को अलविदा कह चुके हैं. पिछले महीने कांग्रेस के वयोवृद्ध नेता मोतीलाल वोरा का सोमवार को 93 साल की उम्र में निधन हो गया था.मोतीलाल वोरा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके है. वह 26 मई 1993 से 3 मई 1966 तक उत्तर प्रदेश के राज्यपाल भी रहे.

इससे पहले  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन हो गया था. वे गुड़गांव के मेदांता अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई (ICU) में भर्ती थे. उनके निधन की जानकारी उनके बेटे फैसल पटेल ने दी. अहमद पटेल कुछ हफ्ते पहले कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे. 71 वर्षीय अहमद पटेल ने एक अक्टूबर को ट्वीट किया था कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. वहीं पिछले साल देश के पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस नेता प्रणब मुखर्जी भी दुनिया को अलविदा कह गए थे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें