Gujarat Exclusive > देश-विदेश > CAA के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की मांग, छह सांसदों ने दिया नोटिस

CAA के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की मांग, छह सांसदों ने दिया नोटिस

0
281

नई दिल्ली: बीजेपी के छह सांसदों ने बुधवार को राज्यसभा में नोटिस देकर नागरिकता संशोधन (CAA) कानून के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की मांग की. उनका कहना है कि संसद द्वारा पास क़ानून के खिलाफ़ ऐसे प्रदर्शन ग़ैरक़ानूनी हैं. नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ करीब दो महीने से देश के अलग-अलग हिस्सों में आंदोलन चल रहे हैं. शाहीन बाग़ दिल्ली में इस आंदोलन का चेहरा है. लेकिन अब बीजेपी के छह सांसदों ने इन प्रदर्शनों पर रोक लगाने की मांग करते हुए राज्यसभा के सभापति को नोटिस दिया है.

बीजेपी सांसद आरके सिन्‍हा ने टीवी चैनल NDTV से कहा, ‘सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन लोकतंत्र के लिए घातक हैं. संसद में पारित कानून के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन कैसे हो सकता है. हमने इस पर राज्‍यसभा में चर्चा की मांग की है.

हालांकि विपक्ष याद दिला रहा है कि संसद के बनाए क़ानून की न्यायिक समीक्षा भी होती है. सीएए का मामला भी सुप्रीम कोर्ट में है. ऐसे में आम लोगों को विरोध प्रदर्शन का पूरा हक है.

जहां संसद को कानून बनाने का अधिकार है, वहीं आम नागरिकों को भी लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन करने का अधिकार है. दरअसल लोकतंत्र में किसी भी आंदोलन को आंकने की सही कसौटी यही हो सकती है कि उसका प्रारूप क्या है. मालूम हो कि दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में काफी समय से नागरिकता कानून विधेयक के खिलाफ धरना प्रदर्शन चल रहा है. इस दौरान वहां फायरिंग की भी घटनाएं देखने को मिल चुकी हैं. सरकार इसे आम आदमी पार्टी की साजिश बता रही है जबकि आम आदमी पार्टी इस मुद्दे पर कुछ भी कहने से बचती नजर आई है.