Gujarat Exclusive > देश-विदेश > CBI ने यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ दर्ज किया FIR, मुंबई में 7 स्थानों पर मारे छापे

CBI ने यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ दर्ज किया FIR, मुंबई में 7 स्थानों पर मारे छापे

0
227

भारतीय स्टेट बैंक (सीबीआई) ने यस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर, दीवान हाउसिंग (डीएचएफएल), डीओआईटी अर्बन वेंचर्स कंपनी और डीएचएफएल के प्रवर्तक निदेशक कपिल वधावन के खिलाफ आपराधिक षडयंत्र, धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. इससे पहले सूत्रों ने बताया था कि सीबीआई ने यस बैंक के मामलों की जांच शुरू कर दी है और अधिकारी इस मामले में दस्तावेज इकट्ठा कर रहे हैं.

उधर सीबीआई ने सोमवार को यस बैंक से जुड़े मामलों को लेकर मुंबई में सात स्थानों पर छापे मारे. इससे एक दिन पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रविवार को मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में भारत के सबसे हाई प्रोफाइल बैंकरों में से एक यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को गिरफ्तार कर लिया था. मुंबई की एक विशेष अदालत ने रविवार को ही यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को 11 मार्च तक के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया था.

एजेंसी ने आरोप लगाया कि कपूर ने यस बैंक के जरिए डीएचएफएल को वित्तीय सहायता देने के लिए वधावन के साथ मिलकर आपराधिक साजिश रची. इसके बदले में अपने लिए और अपने परिवार के सदस्यों के लिए उनकी कंपनियों के मार्फत अनुचित लाभ लेने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि कपूर को पिछली रात प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया जिसने शनिवार को सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी के आधार पर धनशोधन निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था.

‘अप्रैल 2018 में शुरू हुआ था घोटाला’

सीबीआई के एफआईआर के मुताबिक, घोटाला अप्रैल से जून 2018 के बीच शुरू हुआ था जब यस बैंक ने घोटालाग्रस्त दीवान हाउसिंग वित्त निगम लिमिटेड के अल्पावधि ऋणपत्र में 3700 करोड़ रुपये का निवेश किया था. कपूर को 31 जनवरी 2019 को बैंक के सीईओ का पद छोड़ना पड़ा था जब आरबीआई ने 2018 में यस बैंक द्वारा उनके कार्यकाल को तीन साल (अगस्त 2021) तक के लिए बढ़ाने की सिफारिश खारिज़ कर दी थी.

बेटी के बाहर जाने पर रोका

उधर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के सह संस्थापक राणा कपूर की बेटी को रविवार को लंदन जाने से रोक दिया क्योंकि उनके पिता के खिलाफ चल रहे धनशोधन की जांच में उन्हें शामिल होना है. अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय एजेंसी द्वारा लुकआउट नोटिस जारी होने की वजह से रोशनी कपूर को मुंबई हवाई अड्डे पर लंदन जाने वाले विमान में सवार होने की अनुमति नहीं दी गई.

… तो क्या यस बैंक संकट के बारे में अडानी को पता था ?