Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > जनवरी-फरवरी में नहीं होंगी CBSE बोर्ड की परीक्षाएं, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

जनवरी-फरवरी में नहीं होंगी CBSE बोर्ड की परीक्षाएं, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

0
296

CBSE Board Exam Update: कोरोना के कारण शिक्षा पर बुरा असर पड़ा है. साल 2020 में कई परिक्षाएं या दो रद्द कर दी गईं या फिर टाल दी गईं. इसी बीच कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. सरकार ने जनवरी-फरवरी में CBSE बोर्ड की परीक्षाएं न कराने का फैसला लिया है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेशन पोखरियाल निशंक ने CBSE बोर्ड की परीक्षाओं के टालने की जानकारी दी.

देशभर के शिक्षकों के साथ ऑनलाइन संवाद करते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा, ”15 फरवरी से मार्च मध्य तक परीक्षा (CBSE) होती थी. जो परिस्थितियां हैं जनवरी-फरवरी में ये परीक्षा संभव नहीं है.” उन्होंने कहा कि परीक्षा (CBSE) की आगामी तारीखों का ऐलान बाद में किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में अनशन पर बैठेंगे अन्ना हजारे

केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आज यहाँ शिक्षा संवाद के 22वें संस्करण के तहत शिक्षकों के साथ लाइव इंटरैक्शन में ऑनलाइन शिक्षा, बोर्ड परीक्षा (CBSE), प्रवेश परीक्षा, मूल्यांकन के स्वरुप, शिक्षकों की ट्रेनिंग और शिक्षा संबंधी अन्य मुद्दों पर विस्तृत बातचीत की. इस शिक्षा संवाद में देश भर के हज़ारों शिक्षकों ने हिस्सा लिया और शिक्षा संबंधी विभिन्न मुद्दों पर कई सवाल किए जिसके जवाब देकर माननीय मंत्री जी सभी की आशंकाओं एवं चिंताओं को दूर किया.

बदल रहा है ट्रेंड

निशंक ने कोरोना संकट काल के दौरान समय समय पर छात्रों, शिक्षकों एवं अभिभावकों से समय समय पर संवाद करते रहे हैं और उन्हें इस कठिन समय में प्रेरित किया. उन्होंने ने आचार्य देवो भवः, विश्वविद्यालयों की परीक्षा, मानसिक स्वास्थ्य एवं कल्याण जैसे मुद्दों पर चर्चा की.

महामारी के दौर में शिक्षकों की भूमिका की प्रशंसा करते हुए डॉ निशंक ने कहा, “मल्टी मॉडल लर्निंग के विकास को देखते हुए मेरा मानना है कि शिक्षकों की भूमिका भी बदल रही है और हमारे शिक्षक इस नई भूमिकाओं के निर्वहन में कामयाब भी हो रहे हैं. शिक्षक की भूमिका अब सोर्स ऑफ नॉलेज से हट कर प्रोसेस ऑफ नॉलेज क्रिएशन की ओर बढ़ रही है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें