Gujarat Exclusive > देश-विदेश > आतंकवाद को लेकर CDS रावत का बड़ा बयान, अमेरिकी मॉडल अपनाना होगा

आतंकवाद को लेकर CDS रावत का बड़ा बयान, अमेरिकी मॉडल अपनाना होगा

0
166

देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने आतंकवाद के खात्मे को लेकर जंग के साथ-साथ कूटनीतिक तरीके को भी अपनाने की बात कही. उन्होंने कहा कि जिस तरह अमेरिका ने 9/11 हमले के बाद आतंकवाद पर हमले किए थे हमें भी उसी तरह काम करना होगा.

सीडीएस रावत ने आगे कहा, ‘जब तब आतंकवाद प्रायोजित करने वाले देश हैं, तब तक हमें इस खतरे का सामना करते रहना होगा. हमें इससे निर्णायक ढंग से निपटना होगा. वह आतंकवादियों को प्रॉक्सी के रूप में उपयोग करते हैं, उन्हें हथियार उपलब्ध कराते हैं, उन्हें फंडिंग करते हैं. ऐसे में हम आतंकवाद को नियंत्रित नहीं कर सकते. उन्होंने आगे कहा कि “मुझे लगता है कि आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले किसी भी देश को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) द्वारा ब्लैकलिस्ट करना होगा. आपको इसे कूटनीतिक तरीके से अलग करना होगा.”

बता दें कि अभी हाल में बिपिन रावत को भारत को अपना पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाया गया है. इस नियुक्ती के बाद भारत उन गिने चुने देशों में अपना स्थान बना लिया है जहां पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ को नियुक्त किया गया है.