Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना की वजह से सूरत की स्थिति खराब, समीक्षा के लिए पहुंची केंद्र की टीम

कोरोना की वजह से सूरत की स्थिति खराब, समीक्षा के लिए पहुंची केंद्र की टीम

0
360

सूरत: गुजरात में कोरोना वायरस की दूसरी लहर खतरनाक बनती जा रही है. गुजरात में कोरोना के बढ़ते आंतक पर काबू पाने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं. Center team reached Surat

बावजूद इसके दैनिक मामलों में कमी दर्ज नहीं की जा रही. गुजरात स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक राज्य में बीते 24 घंटों में एक बार फिर से तीन हजार से ज्यादा कोरोना के नए मामले दर्ज हुए हैं. Center team reached Surat

अहमदाबाद और सूरत कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में पहले पायदान पर बने हुए हैं. कोरोना की वजह से सूरत की स्थिति हर दिन खराब होती जा रही है. Center team reached Surat

इस बीच स्थिति की समीक्षा के लिए केंद्र की टीम सूरत पहुंचकर हालात की जायजा ले रही है.

कोरोना की वजह से सूरत की स्थिति खराब Center team reached Surat

सूरत में कोरोना के नए मामले पिछले कुछ दिनों से रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं. इतना ही नहीं एक्टिव मामलों की संख्या में भी भारी वृद्धि दर्ज की जा रही है. Center team reached Surat

सूरत में कोरोना के बढ़ते आतंक का इस बात से लगाया जा सकता है कि शहर की ज्यादातर अस्पताल हाउसफुल हो चुके हैं. केंद्र और राज्य सरकार सूरत की स्थिति को लेकर चिंतित हैं.

दिल्ली एम्स की एक टीम स्थिति का जायजा लेने के लिए आज सूरत पहुंची है. नगर आयुक्त, सिटी कलेक्टर सहित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सूरत नगर निगम के स्मैक सेंटर में बैठक आयोजित की गई थी.

केंद्र की टीम ने जिला कलेक्टर के साथ की बैठक

दिल्ली एम्स की टीम के साथ होने वाली बैठक के बाद सूरत कलेक्टर डॉ. धवल पटेल ने कहा कि सूरत की स्थिति अभी भी कोरोना की वजह से गंभीर हो सकती है.

जिस गति से मामले बढ़ रहे हैं वह चिंता का विषय है. शहर में ऑक्सीजन की जरूरत वाले मरीजों की संख्या बढ़ी है. Center team reached Surat

सूरत कलेक्टर ने लोगों से अपील की है कि अगर जरूरत न हो तो वे अपने घर न छोड़ें.

अब मरीज के रिश्तेदारों को इंजेक्शन लेने नहीं जाना पड़ेगा

इंजेक्शन के मुद्दे पर कलेक्टर ने कहा, मरीजों के रिश्तेदारों को इंजेक्शन लेने अब नहीं जाना पड़ेगा. अस्पताल द्वारा इंजेक्शन की मांग की जाएगी. Center team reached Surat

यदि कोई अस्पताल किसी मरीज के रिश्तेदार को इंजेक्शन लेने के लिए भेजता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

गौरतलब है कि सूरत शहर में संक्रमितों की संख्या पिछले एक महीने से लगातार बढ़ रही है. पिछले 24 घंटों में सूरत जिले में 819 नए मामले सामने आए हैं.

इसमें 621 मामले सूरत शहरी क्षेत्र और 198 ग्रामीण क्षेत्र में दर्ज किए गए हैं.

जबकि इस दौरान सूरत जिले में कोरोना के कारण 10 और लोगों की जान चली गई है. Center team reached Surat

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना की चपेट में आए गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चुडासमा, अस्पताल में भर्ती