Gujarat Exclusive > IPL 2020 > खत्म नहीं हो रहीं चेन्नई की मुश्किलें, अब ब्रावो हो सकते हैं आईपीएल 2020 से बाहर

खत्म नहीं हो रहीं चेन्नई की मुश्किलें, अब ब्रावो हो सकते हैं आईपीएल 2020 से बाहर

0
198

आईपीएल 2020 में भाग लेने के लिए जब से चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) की टीम यूएई पहुंची है तब से उसकी परेशानियां खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. मौजूदा सत्र में कई मुश्किलों का सामना कर रही चेन्नई की टीम (Chennai Super Kings) को अब नई आने वाले दिनों में कुछ और परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

चेन्नई (Chennai Super Kings) के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा है कि चेन्नई सुपर किंग्स के ड्वेन ब्रावो (Dwane Bravo) ग्रोइन की चोट के कारण ‘कुछ दिनों या कुछ हफ्तों’ के लिए इंडियन प्रीमियर लीग से बाहर हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें: पर्पल कैप की दौड़ में कैगिसो रबाडा निकले बहुत आगे, आर्चर और बुमराह के पास मौका

गौरतलब है कि ब्रावो दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अंतिम ओवर में गेंदबाजी नहीं कर पाए जिसमें विरोधी टीम ने जरूरी 17 रन बनाकर जीत दर्ज की.

फ्लेमिंग ने क्या कहा

फ्लेमिंग ने कहा कि ऐसा लगता है कि उसकी (ब्रावो की) दायीं ग्रोइन में चोट है, बेशक यह इतनी गंभीर है कि वह दोबारा गेंदबाजी के लिए मैदान पर नहीं आ पाया, वह निराश है कि वह अंतिम ओवर नहीं फेंक पाया. फ्लेमिंग ने कहा कि ब्रावो की चोट का आकलन किया जाएगा. मुख्य कोच ने सुपरकिंग्स की पांच विकेट की हार के बाद कहा कि उसकी चोट का आकलन किया जाएगा, इस समय आप मान सकते हो कि वह कुछ दिन या कुछ हफ्तों के लिए बाहर हो गया है.

जडेजा नहीं बचा पाए 17 रन

गौरतलब है कि दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ चेन्नई की टीम (Chennai Super Kings) आखिरी ओवर में 17 रन नहीं बचा पाई. ब्रावो के चोटिल होने के कारण एमएस धोनी को अंतिम ओवर में गेंदबाजी की जिम्मेदारी रविंद्र जडेजा को सौंपनी पड़ी जो अपनी टीम को नहीं बचा पाए. फ्लेमिंग ने मैच के बाद कहा कि दुर्भाग्य ने ड्वेन ब्रावो चोटिल हो गया इसलिए अंतिम ओवर नहीं फेंक पाया, वह स्वाभाविक रूप से डेथ ओवरों का गेंदबाज है, हमारा सत्र इसी तरह चल रहा है, हमें लगातार चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.

खराब स्थिति में है धोनी की टीम

आईपीएल इतिहास की सबसे सफल टीमों में शुमार चेन्नई की टीम (Chennai Super Kings) मौजूदा सत्र में बेहद खराब दौर से गुजर रही है. धोनी की अगुआई में टीम 9 में से केवल 3 मैच ही जीत पाई है. आलम ये है कि चेन्नई अंक तालिका में 6 अंकों के साथ छठे पायदान पर है. व्यक्तिगत कारणों से टूर्नांमेंट के बीच में वापस लौटे सुरेश रैना की कमी टीम को साफ खल रही है जबकि अंबाती रायडू भी चोट के कारण कई मुकाबले नहीं खेल पाए थे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें