Gujarat Exclusive > देश-विदेश > प्रवासी मजदूरों के लिए केंद्र द्वारा ट्रेन चलाने के फैसले से छत्तीसगढ़ के सीएम खुश, अब की ये मांग

प्रवासी मजदूरों के लिए केंद्र द्वारा ट्रेन चलाने के फैसले से छत्तीसगढ़ के सीएम खुश, अब की ये मांग

0
697

कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में तालांबदी चल रही है जिसे केंद्र सरकार ने बढ़ाकर 17 मई तक कर दिया है. इस बीच केंद्र सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए विशेष ट्रेनें चलाकर उन्हें गृह राज्य पहुंचाने का निर्देश दिया है. रेलवे की ओर से चलाई जा रही इस स्पेशल ट्रेनों को ‘श्रमिक स्‍पेशल’ का नाम दिया गया है. इस पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुश हैं और उन्होंने मोदी सरकार की तारीफ की है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर राज्य के विभिन्न हिस्सों में फंसे श्रमिकों की वापसी के लिए चलाई गई ट्रेनों का स्वागत किया है. उन्होंने इन श्रमिकों को रेलवे द्वारा नि:शुल्क यात्रा कराए जाने का अनुरोध भी किया. उन्होंने रेल मंत्री को पत्र में लिखा कि राज्य के 1.17 लाख से अधिक प्रवासी कामगार देश के 21 राज्यों और चार केंद्र शासित प्रदेशों में फंसे हैं. उन्होंने छत्तीसगढ़ के प्रवासी श्रमिकों की वापसी के लिए 28 ट्रेनों की मांग की है.

मालूम हो कि गृह मंत्रालय ने रेल मंत्रालय की ओर से चलाई जाने वाली विशेष ट्रेनों से देशभर में विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिकों, पर्यटकों, तीर्थयात्रियों, विद्यार्थियों और अन्य व्यक्तियों की आवाजाही की अनुमति देने का आदेश जारी किया था. रेल मंत्रालय ने इन प्रवासी लोगों की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं.

महाराष्ट्र से घर जाने के लिए निकला था प्रवासी मजदूर, 350 किलोमीटर चला और हो गई मौत