Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ताइवान द्वारा चीन के सुखोई एयरक्राफ्ट को मार गिराए जाने का दावा

ताइवान द्वारा चीन के सुखोई एयरक्राफ्ट को मार गिराए जाने का दावा

0
496

एक तरफ जहां भारत से चीन (China) की तनातनी चल रही है तो वहीं दूसरी तरफ ताइवान से भी ड्रैगन के रिश्ते खराब होते चले जा रहे हैं. चीन (China) के साथ तनाव के बीच ताइवान के एक चीनी फाइटर के मार गिराने की खबरों सामने आ रही है. हालांकि चीन (China) और ताइवान में से किसी ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है.

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि ताइवान ने अपने एयर स्‍पेस में घुस आए चीनी सुखोई-35 विमान को मार गिराया है. बताया जा रहा है कि इस हमले में ताइवान ने अमेरिकी पेट्रियाट मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम का इस्‍तेमाल किया है.

यह भी पढ़ें: रूस दौरे पर गए राजनाथ सिंह मास्को में चीनी रक्षा मंत्री से कर सकते हैं मुलाकात

खबरों के मुताबिक ताइवान ने अपनी हवाई सीमा में घुसपैठ करने वाले चीन के सुखोई एयरक्राफ्ट को मार गिराया.

पायलट सुरक्षित

फाइटर जेट क्रैश हो गया लेकिन इसका पायलट सुरक्षित है. क्रैश हुए एयरक्राफ्ट के कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.

चीन बीते महीनों में कई बार ताइवान की जल और वायु सीमा का उल्लंघन करते हुए उसे धमकाने की कोशिश कर रहा था. गुरुवार को भी चीन (China) का एक फाइटर जेट ताइवान की हवाई सीमा में घुसा था.

बढ़ सकता है तनाव

इस घटना के बाद चीन (China) और ताइवान में तनाव बढ़ने की आशंका है. दक्षिणी चीन सागर में अमेरिका भी पूरी तैयारी के साथ मौजूद है. उसका निमित्ज वॉरशिप यहां मौजूद है. इस पर 120 फाइटर जेट्स मौजूद हैं.

चीन (China) के किसी भी प्रकार के आक्रामक रवैये से निपटने के लिए ताइवान की नेवी और एयरफोर्स अलर्ट पर है.
राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने ताइवान के सैन्य ताकत में इजाफा करने के लिए रिजर्व सैन्य बलों को और मजबूत करने के लिए कई नई घोषणाएं की हैं. इसके तहत रिजर्व फोर्स को ताइवानी सेना के लिए मजबूत बैकअप के रूप में विकसित किया जाएगा.

इसके तहत एक रिजर्व फोर्स को बनाया जाएगा जो नियमित सशस्त्र बलों की तरह ही ताकतवर होगी. उन्हें वे सभी हथियार और सैन्य साजो समान दिए जाएंगे जिसका इस्तेमाल ताइवानी सेना करती है. इसके अलावा विभिन्न बलों के बीच में रणनीतिक समझ और विभिन्न सरकारी विभागों और एजेंसियों के बीच घनिष्ठ सहयोग भी विकसित किया जाएगा.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें