Gujarat Exclusive > देश-विदेश > लापता हुए भारतीय नागरिक चीन के क्षेत्र में मौजूद, चीनी सेना ने कबूला

लापता हुए भारतीय नागरिक चीन के क्षेत्र में मौजूद, चीनी सेना ने कबूला

0
491

China NEWS: अरुणाचल प्रदेश से अगवा किए गए पांच युवक चीन (China) के क्षेत्र में मिलने की पुष्टि हुई है. केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने इसकी पुष्टि की है कि अरुणाचल प्रदेश से लापता पांच युवक उनकी ओर मिले हैं.
उन्होंने कहा कि युवकों को हमारी अथॉरिटी को सौंपने का काम किया जा रहा है. China NEWS

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने मंगलवार को ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी.

किरण रिजिजू ने कहा, चीनी सेना ने भारतीय सेना द्वारा भेजे गए हॉटलाइन संदेश का जवाब दिया है. चीनी सेना ने पुष्टि की है कि अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए युवक उनके क्षेत्र में पाए गए हैं. युवकों को सौंपने की प्रक्रिया चल रही है. China NEWS

 

पीएलए ने किया था अगवा

मालूम हो कि अरुणाचल प्रदेश से कांग्रेस विधायक निनॉन्ग इरिंग ने दावा किया कि चीन (China) की पीपुल्स रिपब्लिक आर्मी (PLA) ने भारत के पांच युवकों को अगवा कर लिया है. विधायक के दावे के बाद भारतीय सेना की ओर से इस बारे में चीनी सेना (China Forces)) को शिकायत भी की गई थी.

यह भी पढ़ें: ड्रग्स केस में उछला कंगना का नाम, एक्ट्रेस ने कहा, लिंक निकला तो मुंबई छोड़ दूंगी

अरुणाचल प्रदेश के नाचो इलाके के पांच ग्रामीण युवक जंगल में शिकार करने गए थे, उन्हें कथित तौर पर पीएलए ने अगवा कर लिया. China NEWS
ये युवक सेना के लिए कुली और गाइड का काम करते थे. बीते शुक्रवार को उनके परिजनों ने सोशल मीडिया पर उनके लापता होने की जानकारी दी.
समूह के दो सदस्य घर लौटे और उन्होंने बाकी के पांच युवकों के परिवारों को बताया कि सेरा-7 से चीन (China) के सैनिक उन्हें ले गए. सेरा-7 सेना का गश्ती क्षेत्र है जो नाचो के उत्तर में 12 किमी की दूरी पर स्थित है.

सीमा पर हालात गंभीर China NEWS

भारत और चीन (India and China) के बीच‌ हालात कितने तनावपूर्ण बने हुए हैं. इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 45 साल बाद एलएसी पर फायरिंग की घटना सामने आई है.
भारतीय सेना के मुताबिक, सोमवार शाम को चीनी सेना (China Force) ने भारत की एक फॉरवर्ड पोजिशन के करीब आने की‌ कोशिश की और डराने के इरादे से हवाई फायरिंग की.‌ लेकिन चीन (China) ने उल्टा भारत पर ही वार्निंग-शॉट्स फायर करने का आरोप लगा डाला.
फायरिंग के बाद से ही रेजांगला के करीब मुखपरी हिल पर चीनी सैनिक भाले और दूसरे हथियार लेकर भारतीय सेना से कुछ मीटर की दूरी पर जमे हुए हैं, जिससे दोनों देशों के बीच ‘स्टैंडऑफ’ की स्थिति बनी हुई है.

भारतीय सेना का दावा, चीन ने की गोलीबारी

भारतीय सेना ने वास्तविक नियंत्रण रेखा एलएसी पर चीनी सेना के गोलीबारी करने की पुष्टि करते हुए आरोप लगाया है कि चीनी सेना खुल्लमखु्ल्ला समझौतों का उल्लंघन कर रही है और आक्रामक हरकतें कर रही है.

सेना ने अपने एक बयान में कहा है,

“सात सितंबर, सोमवार को चीनी सेना (पीएलए) के सैनिक एलएसी पर भारत के एक पोज़िशन की ओर बढ़ने की कोशिश कर रहे थे,

और जब हमारे सैनिकों ने उन्हें भगाया तो उन्होंने हवा में कई राउंड फ़ायर कर हमारे सैनिकों को डराने की कोशिश की.”

सेना ने कहा कि इस उकसाऊ हरकत के बावजूद भारतीय सैनिकों ने संयम बरता और परिपक्व व ज़िम्मेदार बर्ताव किया.

सेना ने आरोप लगाया कि चीन के वेस्टर्न थिएटर कमांड ने अपने बयान से अपने देश के भीतर और अंतरराष्ट्रीय जगत को गुमराह करने की कोशिश की है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें