Gujarat Exclusive > गुजरात > चीन के कोरोना वायरस का गुजरात में दिखा असर, तिल और जीरे का व्यापार ठप

चीन के कोरोना वायरस का गुजरात में दिखा असर, तिल और जीरे का व्यापार ठप

0
550

चीन में कोरोना वायरस के कारण 57 और लोगों की मौत हो जाने के साथ ही इस वायरस की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 361 हो गई है. चीन राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने सोमवार को अपनी दैनिक रिपोर्ट में कहा कि दो फरवरी को कोरोना वायरस के 2,829 नए मामले सामने आए हैं कोरोना वायरस के कारण जहां लोग चीन की यात्रा करने से बच रहे हैं. सौराष्ट्र से चीन भेजे जाने वाले तिल और जीरे का व्यापार भी ठप पड़ा है.

सौराष्ट्र से भेजे जाने वाले तिल का इस्तेमाल चीन में बेकरी प्रोडक्ट्स में किया जाता है. वहीं जीरे का इस्तेमाल वहां बारहों महीने होता है. यहां का जीरा चीनियों को मीठा लगता है, इसलिए वे इसका इस्तेमाल नूडल्स और रसोई में व्यंजन बनाने में करते हैं. चीन में सालभर में 15 लाख बोरी जीरे का निर्यात होता है. जबकि हर साल 80 हजार टन से ज्यादा तिल भी निर्यात किया जाता है.

गौरतलब हो कि इससे पहले गुजरात में टिड्डियों के आतंक से जीरा और तील के फसल को काफी नुकशान पहुंचा था. अब लित बाजार में आने के बाद किसानों को उम्मीद थी कि चीन जाने की वजह से अच्छी कीमत मिलेगी लेकिन पिछले महीने से तिल और जीरा का निर्यात रुकने की वजह से किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.