Gujarat Exclusive > देश-विदेश > चीन के इंजीनियरों का कमाल, 7600 टन की पांच मंजिला इमारत को दूसरे जगह स्थापित किया

चीन के इंजीनियरों का कमाल, 7600 टन की पांच मंजिला इमारत को दूसरे जगह स्थापित किया

0
245

भले ही चीन की हम आलोचना कर लें लेकिन कई मामलों में यह देश आज भी दुनिया के दूसरे देशों से खासे आगे है. इन्हीं में से एक इंजीनियरिंग सेक्शन है. इसका जीता-जागता उदाहरण चीन के इंजीनियरों (Chinese Engineer) ने दिया है. दरअसल चीन के शंघाई शहर में इंजीनियरों (Chinese Engineer) ने 7,600 टन की एक विशालकाय इमारत को उसकी जगह से दूसरी जगह स्थापित करने का कमाल किया है.

चीन के इंजीनियरों (Chinese Engineer) के पास इमारत को गिराने का विकल्प भी था लेकिन इस ऐतिहासिक इमारत को उसकी जगह से उठाकर दूसरी जगह स्थानांतरित करने का फैसला किया. 1935 में बनी शंघाई के लागेना प्राथमिक विद्यालय की पांच मंज़िला इमारत को उसकी जगह से उठाया और तकनीक के इस्तेमाल से उसे कुछ दूरी पर ले गए.

ये भी पढ़ें: चक्रवर्ती के चक्कर में फंसे दिल्ली के दबंग, केकेआर की छठी जीत

करीब 62 मीटर खिसकाया गई बिल्डिंग

स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, इस पुरानी इमारत के पास ही एक नए प्रोजेक्ट पर काम शुरू होना है. इसकी वजह से उस बिल्डिंग को उसकी जगह थोड़ी हटाना पड़ा. चीन के सरकारी मीडिया के अनुसार, इंजीनियरों की एक टीम (Chinese Engineer) ने तकनीक की मदद से बिल्डिंग को उठाया और 198 रोबोटिक टांगों की मदद से उसे क़रीब 62 मीटर अलग ले गए.

18 दिनों में पूरा हुआ काम

खबरों के मुताबिक, बिल्डिंग को उसकी मूल जगह से हटाकर दूसरी जगह स्थापित करने में 18 दिनों का समय लगा. बताया जा रहा है कि 15 अक्टूबर को बिल्डिंग को स्थापित कर दिया गया था. इसके लिए चीनी इंजीनियरों (Chinese Engineer) ने रोबोट द्वारा नियंत्रित मज़बूत पाये के इस्तेमाल से बिल्डिंग को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाया. आपने आप में इस तरह का ये ऐसा पहला मामला है.

इससे पहले 2017 में 135 साल पहले बने और क़रीब 2000 टन वज़न वाले ऐतिहासिक बौद्ध मंदिर को उसकी मूल जगह से लगभग 30 मीटर खिसकाया गया था और इस मंदिर को 30 मीटर खिसकाने में 15 दिन लगे थे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बागपत के निलंबित सब-इंस्पेक्टर ने कटवाई दाढ़ी, फिर से पद पर हुए बहाल