Gujarat Exclusive > राजनीति > यूपी में पहले दंगाईयों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाकर सम्मानित किया जाता था: CM योगी

यूपी में पहले दंगाईयों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाकर सम्मानित किया जाता था: CM योगी

0
253

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले चुनाव से पहले राज्य की सियासी सरगर्मियां अपने चरम सीमा पर हैं. सत्ताधारी भाजपा संगठन को मजबूत कर चुनाव में कामयाबी हासिल करना चाहती है. वहीं कांग्रेस सहित विपक्षी दल भी अपनी खोई हुई सियासी जमीन को तलाशने की कोशिश कर रही. चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार विपक्ष पर हमला बोल रहे हैं. उत्तर प्रदेश के बदायूं पहुंचे सीएम योगी ने पूर्व सीएम अखिलेश यादव और उनके परिवार के साथ ही साथ विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला.

बदायूं पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व सीएम अखिलेश यादव और उनके परिवार हमला बोलते हुए कहा कि पहले नौकरी निकलती थी और एक परिवार वसूली के लिए निकल जाता था. नियुक्ति के नाम पर पैसा वसूला जाता था लेकिन नियुक्ति नहीं होती थी क्योंकि धांधली के बाद कोर्ट स्टे लगा देता था. लेकिन साढ़े चार साल में 4.5 लाख लोगों को नौकरी मिली है जिन पर कोई प्रश्न नहीं उठा सकता.

इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश के CM योगी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए आगे कहा कि पिछली सरकारें आतंकवादियों का मुकदमा वापस लेती थीं, दंगाईयों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाकर सम्मानित किया जाता था. लेकिन हमारी सरकार में आतंकवादियों को उनके लोक में पहुंचाने का काम होता है.

उत्तर प्रदेश के बदायूं पहुंचे राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कोरोना के समय मुफ़्त राशन दिया था. राज्य सरकार ने तय किया है कि इसे होली तक दिया जाए. इसके तहत अंत्योदय परिवार कार्ड धारकों को 35 किलो गेंहू या चावल दिया जाएगा साथ ही 1-1 किलो दाल, खाद्य तेल, चीनी और नमक हर परिवार को उपलब्ध कराया जाएगा.

लखीमपुर हिंसा: FSL की रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, आशीष-अंकित की बंदूक से लगाई गई थी गोली