Gujarat Exclusive > राजनीति > सीएम योगी बोले- बाज नहीं आ रहे गरीबों की लाश पर राजनीति करने वाले, सब बेनकाब होंगे

सीएम योगी बोले- बाज नहीं आ रहे गरीबों की लाश पर राजनीति करने वाले, सब बेनकाब होंगे

0
436

हाथरस मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) लगातार नजर बनाए हुए हैं. इस बीच आज सीएम योगी (CM Yogi) ने विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा. हाथरस कांड में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दावा किया है कि उत्तर प्रदेश में दंगा भड़काने के लिए मॉरिशस से 50 करोड़ की फंडिंग की गई है. इस खुलासे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने कहा कि हम किसी की भी साजिश को सफल नहीं होने देंगे.

सीएम (CM Yogi) ने कहा कि हम ऐसे लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करेंगे, जो समाज में विद्वेष पैदा करके विकास को रोकना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि अब उत्तर प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है.

यह भी पढ़ें: बिहार चुनाव: भाजपा को दूसरा झटका, LJP में शामिल हुईं वरिष्ठ नेता उषा विद्यार्थी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने बुधवार को अपने सरकारी आवास पर बांगरमऊ (उन्नाव) विधानसभा उपचुनाव के लिए आयोजित बूथ, सेक्टर और मंडल के पदाधिकारियों की वर्चुअल बैठक को संबोधित किया. सीएम योगी ने कहा कि गरीबी और गरीबों की लाश पर राजनीति करने वाले कभी गरीबों के हितैषी नहीं हो सकते. ऐसे लोग बेनकाब हो रहे हैं.

क्या बोले सीएम

बैठक के दौरान सीएम विपक्षी दलों पर जमकर बरसे. सीएम योगी ने कहा कि,

इन लोगों ने आजादी के बाद से गरीबों का कभी भला चाहा ही नहीं. इनके लिए गरीब और गरीबी उन्मूलन का नारा सिर्फ वोट बैंक रहा. आज भी इनकी मानसिकता जस की तस है. लिहाजा, गरीबों की लाश पर राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे. ऐसे चेहरे बेनकाब हो रहे हैं. सरकार एक-एक को पहचानकर कर उनसे कानून के अनुसार बेहद सख्ती से पेश आएगी.”

योगी (CM Yogi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई और मार्गदर्शन में लगातार हम अच्छा काम कर रहे हैं. पिछले छह सालों में देश में और करीब साढ़े तीन वषों में उत्तर प्रदेश में हर क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास हुआ है. इस आमूल-चूल बदलाव से उत्तर प्रदेश के बारे में नजरिया बदला है.”

हाथरस मामले के बाद निशाने पर हैं योगी

मालूम हो कि यूपी के हाथरस में बीते 14 सितंबर को एक दलित युवती का गैंगरेप हुआ था, जिसके बाद दिल्ली में 29 सितंबर को उसकी मौत हो गई. मौत के बाद जिस तरह यूपी पुलिस ने युवती का अंतिम संस्कार अनन-फानन में रात के अंधेरे में ही कर दिया, उस पर काफी विवाद हुआ. राजनीतिक दलों से लेकर कई सामाजिक संगठनों ने यूपी सरकार पर सवाल खड़े किए. इस दौरान विरोधी दलों ने सीएम योगी से इस्तीफे की मांग कर दी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें